अनजाने में मौत का सामान लेकर फ्लाइट में चढ़ी थी महिला, 11 मिनट बाद ही चली गई 44 लोगों की जान, फिर हुआ ये खुलासा

नवंबर 1955 अमरीका में हुए एक विमान हादसे में 44 यात्रियों की दर्दनाक मौत हुई थी। लोग इस हादसे के लिए प्लेन को उड़ा रहे पायलेट्स की गलती ही मानते रहे

By: राहुल

Published: 12 Nov 2017, 12:45 PM IST

आज वर्तमान की बात करें तो एयरपोर्ट्स पर हद से ज्यादा सुरक्षा के इंतज़ामात किए जाते हैं। लेकिन अब से करीब 5 दशक पहले की बात करें तो उस समय यात्रियों के एअरपोर्ट पर आने-जाने में सुरक्षा कर्मियों द्वारा इतनी कठोरता नहीं दिखाई जाती थी। आज हम जिस मामले के बारे में आपको बता रहे हैं वो कुछ ऐसे ही मामले के संबंधित है। बात 1 नवंबर 1955 की है जब अमरीका में हुए एक विमान हादसे में 44 यात्रियों की दर्दनाक मौत हुई थी। लोग इस हादसे के लिए प्लेन को उड़ा रहे पायलेट्स की गलती ही मानते रहे लेकिन तब तक जब तक FBI ने इस हादसे की जांच की जिम्मेदारी नहीं ली। क्योंकि FBI की जांच में परत दर परत कई ऐसे खुलासे हुए जिसमें यह बात सामने निकल कर आई कि उस हादसे की जिम्मेदार एक महिला यात्री भी थी।

Mysterious Flight 629

इस हादसे में सबसे हैरान कर देने वाली बात जो सामने निकल कर आई वो ये थी कि उस महिला को भी नहीं पता था कि जिस बैग को लेकर वो यात्रा कर रही थी उस बैग में ही मौत का सामान मौजूद था।

FBI के जांच दल ने जब प्लेन के मलबे में मौजूद सामान इकठ्ठा किया गया तो उन्हें बहुत कुछ ऐसा मिला जिसने काफी राज खोल दिए। यूनाइटेड एयरलाइन्स की इस फ्लाइट 629 में उड़ान भरने के 11 मिनट बाद ही धमाका हो गया था। फ्लाइट 629 ने न्यूयॉर्क सिटी के ला गार्डिया एयरपोर्ट से डेनवर के स्टेपलेटन इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए उड़ान भरी थी। लेकिन फ्लाइट के उड़ान भरते ही प्लेन में आग लग गई। परिणाम स्वरुप प्लेन क्रैश हो गया और उसमें सवार 44 लोगों की मौत हो गई।

Mysterious Flight 629

प्लेन क्रेश के बाद जांच में यह बात सामने आई यह एक हादसा था जोकि पायलेट्स की गलती से हुआ था लेकिन जब FBI की टीम प्लेन के मलवे की जांच कर रहे थे तब उन्हें फ्लाइट में मौजूद 53 साल की डैजी किंग नाम की महिला यात्री का सामान मिला, जिसमें विस्फोटक होने के निशान थे।

FBI की जांच में सामने आया कि डैजी को भी उसके बैग में विस्फोटक होने की बात पता नहीं थी। दरअसल महिला के आपराधिक प्रवृति के बेटे ने इंश्योरेंस के पैसे लेने के लिए उनकी बिना जानकारी के सामान में विस्फोटक रख दिए थे। उनके बेटे जॉन के मन में पैसों का लालच आ गया था। इसीलिए उसने अपनी मां के साथ-साथ प्लेन में मौजूद 44 अन्य लोगों की भी जान ले ली।

राहुल
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned