America: अश्वेत के मौत मामले में 7 पुलिस अफसर सस्पेंड, वीडियो सामने आने के बाद मामले ने पकड़ा तूल

HIGHLIGHTS

  • अमरीका में न्यूयॉर्क प्रांत ( America New York State ) के रोचेस्टर शहर में एक अश्वेत की मौत के मामले में सात पुलिस अफसरों को निलंबित कर दिया गया है।
  • इसी साल 30 मार्च को न्यूयॉर्क में 41 वर्षीय डेनियल प्रूड की पुलिस कस्टडी में दम घुटने से मौत हो गई थी।

By: Anil Kumar

Updated: 04 Sep 2020, 09:04 PM IST

वाशिंगटन। अमरीका में 3 नवंबर को राष्ट्रपति चुनाव ( US Presidential Election 2020 ) होने वाले हैं, उससे पहले ही बीते कई महीनों से विरोध-प्रदर्शन का सिलसिला जारी है। अब एक और मामले को लेकर अमरीका में व्यापक प्रदर्शन शुरू हो गया है।

दरअसल, अमरीका में न्यूयॉर्क प्रांत के रोचेस्टर शहर में एक अश्वेत की मौत के मामले में सात पुलिस अफसरों को निलंबित कर दिया गया है। हालांकि, कहा कि अनुबंध नियमों के चलते सभी निलंबित पुलिस अफसरों को वेतन मिलता रहेगा।

इसी साल 30 मार्च को न्यूयॉर्क में 41 वर्षीय डेनियल प्रूड की पुलिस कस्टडी में दम घुटने से मौत हो गई थी। इसका एक वीडियो सामने आने के बाद अब इस मामले ने तूल पकड़ लिया है।

Kenosha Shooting: अश्वेत को गोली मारे जाने पर America में भड़का हिंसक प्रदर्शन, जानिए पूरा मामला

इस वीडियो में दिख रहा है कि कुछ पुलिस अधिकारियों ने डेनियल के चेहरे को कपड़े से बांध दिया है और फिर करीब दो मिनट तक उसका मुंह फुटपाथ पर दबाए रखा। इससे डेनियल की सांसें रूक गई, जिससे उनकी मौत हो गई। रोचेस्टर की मेयर लवली वारेन ने गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत में इन पुलिस अधिकारियों को निलंबित करने का ऐलान किया।

पुलिस ने मामले को दबाने की कोशिश की

बताया जा रहा है कि इस मामले को छुपाने का प्रयास किया गया। मामले को छुपाने के आरोप को लेकर लवली वारेन ने कहा कि उन्हें बल प्रयोग से डेनियल की मौत होने के बारे में गत चार अगस्त को जानकारी मिली थी। इससे पहले पुलिस प्रमुख ने बताया था कि डेनियल की मौत नशीले पदार्थ के अत्यधिक सेवन के चलते हुई थी।

हालांकि जब वीडियो फुटेज सामने आया तो उसमें पुलिस के बयान से बिल्कुल अलग दिख रहा था। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रमुख की ओर से सही जानकारी नहीं मिलने से गहरी निराशा हुई है।

Chicago में 20 हजार प्रदर्शनकारियों ने लिया हिस्सा, Washington में ‘No Justice No Peace’ तख्ती लिए सड़कों पर उतरे लोग

आपको बता दें कि इससे पहले अफ्रीकी-अमरीकी नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस कस्टडी में मौत के बाद अमरीका के कई शहरों में हिंसा भड़क गई थी। वहीं, बीते महीने एक और अश्वेत नागरिक जैकब ब्लेक को पुलिस ने गोली मार दी थी, जिसको लेकर भी अमरीका में हिंसा भड़क गई। इन दोनों घटनाओं को लेकर अमरीका में हिंसक प्रदर्शन का दौर जारी है।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned