UNESCO से बाहर हुआ अमरीका, इजरायल विरोधी रुख का लगाया आरोप

prashant jha

Publish: Oct, 12 2017 10:48:31 (IST)

America
UNESCO से बाहर हुआ अमरीका, इजरायल विरोधी रुख का लगाया आरोप

2018 तक अमरीका यूनेस्को का पूर्णकालिक सदस्य बना रहेगा।

वॉशिगटन: अमरीका ने यूनेस्को से बाहर होने का ऐलान कर दिया। गुरुवार को अमरीका ने संयुक्त राष्ट्र की इस सांस्कृतिक संस्था पर इजरायल विरोधी रूख अपनाने का आरोप लगाते हुए अलग होने की घोषणा कर दी। हालांकि यूनेस्को से बाहर होने का अमरीका का फैसला 31 दिसंबर 2018 से प्रभावी होगा। तब तक अमरीका पूर्णकालिक सदस्य बना रहेगा। बताते चले कि यूनेस्को की स्थापना 1946 में हुई थी और यह ऐतिहासिक इमारतों को विश्व धरोहर स्थल के रूप में ढालने के लिए मुख्य रूप से जाना जाता है।

इजरायल के खिलाफ बढ़ते पूर्वाग्रह को जाहिर करता है

विदेश विभाग की प्रवक्ता हीथर नाउर्ट ने कहा, ‘‘यह फैसला यूं ही नहीं लिया गया है बल्कि यह यूनेस्को पर बढ़ती बकाया रकम की चिंता और यूनेस्को में इजरायल के खिलाफ बढ़ते पूर्वाग्रह को जाहिर करता है। संस्था में आमूलचूल परिवर्तन की जरूरत है। ’’ उन्होंने कहा कि विदेश विभाग ने यूनेस्को महानिदेशक इरीना बोकोवा को संस्था से अमरीका के बाहर होने के फैसले की सूचना दी और यूनेस्को में एक स्थायी पर्यवेक्षक मिशन स्थापित करने की मांग की है।

गैर सदस्य पर्यवेक्षक के तौर पर जुड़ा रहेगा अमरीका

प्रवक्ता ने कहा कि अमरीका ने महानिदेशक को गैर सदस्य पर्यवेक्षक के तौर पर यूनेस्को के साथ जुड़े रहने की अपनी इच्छा जाहिर की है ताकि संगठन द्वारा उठाए जाने वाले कुछ अहम मुद्दों पर अमरीकी विचार, परिप्रेक्ष्य और विशेषज्ञता में योगदान दिया जा सके। इन मुद्दों में विश्व धरोहर की सुरक्षा, प्रेस की स्वतंत्रता की हिमायत करना और वैज्ञानिक सहयोग एवं शिक्षा को बढ़ावा देना भी शामिल है।

UNESCO संयुक्त राष्ट्र का एक घटक निकाय

बताते चले कि यूनेस्को की स्थापना 1946 में हुई थी और यह ऐतिहासिक इमारतों को विश्व धरोहर स्थल के रूप में ढालने के लिए मुख्य रूप से जाना जाता है। संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन UNESCO संयुक्त राष्ट्र का एक घटक निकाय है। इस संगठन का कार्य शिक्षा, प्रकृति तथा समाज विज्ञान, संस्कृति तथा संचार के माध्यम से अंतराष्ट्रीय शांति को बढ़ावा देना है। इसका मुख्यालय (HQ) पैरिस, फ्रांस France में स्थित है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned