कैलिफोर्निया: पुलिस चीफ के बेटे ने की थी सिख बुजुर्ग की पिटाई, फेसबुक पोस्ट पर छलका पिता का दर्द

कैलिफोर्निया: पुलिस चीफ के बेटे ने की थी सिख बुजुर्ग की पिटाई, फेसबुक पोस्ट पर छलका पिता का दर्द

Shweta Singh | Publish: Aug, 12 2018 02:10:44 PM (IST) अमरीका

टाइरॉन मैकएलिस्टर नाम के इस आरोपी ने ही 6 अगस्त को बुजुर्ग व्यक्ति की पिटाई की थी।

वाशिंगटन। अमरीका के कैलिफोर्निया शहर में बुजुर्ग सिख की पिटाई के मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। दरअसल इस मामले के आरोपी के रूप में शहर के पुलिस प्रमुख के 18 वर्षीय बेटे का नाम सामने आ रहा है। जानकारी के मुताबिक टाइरॉन मैकएलिस्टर नाम के आरोपी ने ही 6 अगस्त को बुजुर्ग व्यक्ति की पिटाई की थी। घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। आरोपी को बुधवार को गिरफ्तार किया गया।

71 वर्षीय सिख बुजुर्ग की बेरहमी से पिटाई

मीडिया रिपोर्ट में मिल रही जानकारी के मुताबिक सोमवार को टाइरॉन मैकएलिएस्टर ने वहां के मंटेका इलाके में अपने साथी के साथ मिलकर एक 71 वर्षीय सिख बुजुर्ग की बेरहमी से पिटाई कर दी। बताया जा रहा है कि उस वक्त पीड़ित बुजुर्ग सुबह की सैर करने निकले थे, तभी आरोपियां ने उनके साथ गाली-गलौज करते हुए मारपीट की। घटना से संबंधित वायरल हो रहे वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि किस तरह ये दोनों आरोपी उक्त बुजुर्ग के साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं।

पिता ने ही पुलिस की मदद की

इस घटना से जुड़ी सबसे हैरानी कर देने वाली बात ये है कि वारदात का जिम्मेदार मुख्य आरोपी टाइरॉन पुलिस प्रमुख का डैरिल मैकएलिस्टर बेटा है, जिसे खुद उसके पिता ने ही पुलिस को पकड़ने में मदद की थी। उसके साथ-साथ पुलिस ने 16 वर्षीय नाबालिग को भी गिरफ्तार किया है, जो उस वक्त उसके साथ था। मामले में सैन जोआक्विन काउंटी सुपीरियर कोर्ट ने आरोपी को दोषी ठहराते हुए करीब 2 करोड़ 72 लाख रूपए का बॉन्ड जमा करने का आदेश दिया।

यूनियन सिटी पुलिस डिपार्टमेंट ने फेसबुक पर पोस्ट किया पिता का ओपन लेटर

गिरफ्तारी के बाद आरोपी के पिता और उत्तरी कैलिफोर्निया शहर पुलिस प्रमुख डैरिल मैकएलिस्टर का एक ओपन लेटर भी यूनियन सिटी पुलिस डिपार्टमेंट ने फेसबुक पर पोस्ट किया। इस लेटर से स्पष्ट है कि डैरिल अपने बेटे के जुर्म की जानकारी पाकर बेहद दुखी हैं। पोस्ट के मुताबिक डैरिल ने लिखा, ‘मेरी पत्नी, मेरी बेटियां और मैं इस समय कितने शर्मिंदा हैं, इसे शब्दों में बयां करना हमारे लिए मुमकिन नहीं। हमने अपने बच्चों को कभी भी हिंसा और नफरत करना कभी नहीं सिखाया।'

भावूक हुए पिता

पुलिस प्रमुख के लेटर से ये पता चलता है कि आरोपी कुछ समय पहले से ही अपने दोस्तों के चलते भटक गया था। दरअसल उन्होंने लेटर में लिखा, ‘कुछ सालों पहले मेरा बेटा रास्ते से भटकने लगा, वह उस वक्त नाबालिग था। वह भाग जाता था और गलत लोगों के साथ रहता था।इस घटना से पहले उसने कई बार चोरियों की वारदात को भी अंजाम दिया था, जिसके कारण उसे जुवेनाइल हॉल में भी रहना पड़ा। उन्होंने आगे लिखा कि उस दिन सुबह करीब 10 बजे मंटेका पुलिस ने उनके बेटे को उनकी और उनकी पत्नी की मदद से खोजा और गिरफ्तार किया।

Ad Block is Banned