फोन टेप होने की खबरों का डोनाल्ड ट्रंप ने किया खंडन, कहा- रूस-चीन नहीं सुन रहे उनकी बातें

फोन टेप होने की खबरों का डोनाल्ड ट्रंप ने किया खंडन, कहा- रूस-चीन नहीं सुन रहे उनकी बातें

| Publish: Oct, 26 2018 05:36:48 PM (IST) | Updated: Oct, 26 2018 05:36:49 PM (IST) अमरीका

डोनाल्ड ट्रंप ने मीडिया में चल रही उन खबरों का खंडन किया है जिसमें कहा गया है कि चीन और रूस उनकी बातें फोन पर सुन रहे हैं।

वाशिंगटनः अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मीडिया में चल रही उन खबरों को गलत बताया है जिसमें कहा गया है कि चीन और रूस उनकी बातें फोन पर सुन रहे हैं। ट्विटर पर ट्रंप ने कहा कि वह बहुत कम सेलफोन का इस्तेमाल करते हैं। उधर, वाइट हाउस ने भी अमरीकी अखबार की इस खबर को फर्जी करार दिया और कहा कि ट्रंप के पास सिर्फ एक सरकारी आईफोन है। दरअसल एक अमरीकी अखबार ने दावा किया था कि डोनाल्ड ट्रंप के पास तीन फोन है। अखबार ने कहा था कि इन फोनों पर होने वाली बातों को चीन और रूस चोरी-छिपे सुन रहे हैं।

 

चीन ने डोनाल्ड ट्रंप पर कसा तंज
उधर, ट्रंप के आईफोन टैप मामले में चीन की तरफ से भी प्रतिक्रिया आई है। चीन ने तंज भरे अंदाज में कहा है कि ट्रंप को चाहिए कि वह सभी जरुरी उपकरण इस्तेमाल करना बंद कर दे ताकि बाहरी दुनिया से उनका संपर्क टूट जाए। चीन ने अमरीकी राष्ट्रपति को सलाह देते हुए कहा कि अगर उन्हें आईफोन की जासूसी होने का खौफ है, तो ट्रंप को हुआवेई का हैंडसेट इस्तेमाल करना चाहिए।

अमरीकी अखबार ने किया था खुलासा
इससे पहले अमरीका के एक बड़े अखबार ने दावा किया था कि आईफोन बेहद असुरक्षित है। इसके चलते अमरीकी सुरक्षा पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है। चीन और रूस की सरकार की ओर से नियुक्त किए गए जासूस मोबाइल टावर हैक करके राष्ट्रपति ट्रंप की निजी बातें अपनी सरकार को मुहैया करा रहे हैं। अखबार की इस खबर के बाद ट्रंप प्रशासन में हड़कंप मच गया था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned