ट्रंप का बड़ा आरोप, बोले- चुनावी धांधली में जस्टिस डिपार्टमेंट और FBI शामिल, बिडेन को कभी स्वीकार नहीं करूंगा राष्ट्रपति

HIGHLIGHTS

  • US Presidential Election Result 2020: डोनाल्ड ट्रंप ने आरोप लगाया है कि डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस और फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (FBI) चुनावी धांधली में जो बिडेन के साथ मिले हुए हैं।
  • पेन्सिलवेनिया की सुप्रीम कोर्ट ने ट्रंप के समर्थकों की ओर से जो बिडेन की जीत के खिलाफ दायर लॉ सूट खारिज कर दिया।

By: Anil Kumar

Updated: 30 Nov 2020, 09:25 PM IST

वाशिंगटन। अमरीका में राष्ट्रपति चुनाव परिणाम ( US Presidential Election Result 2020 ) को लेकर अभी भी सियासी घमासान जारी है, भले ही राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( Donald Trump ) ने व्हाइट हाउस को छोड़ने पर अपनी सहमति जता दी हो। ट्रंप चुनाव में धांधली होने की अपनी बात पर अभी भी कायम हैं और अब उन्होंने एक बड़ा आरोप लगा दिया है।

डोनाल्ड ट्रंप ने सीधे-सीधे कहा है कि डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस और फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (FBI) चुनावी धांधली में जो बिडेन ( Joe Biden ) के साथ मिले हुए हैं। दरअसल, कोर्ट से याचिका खारिज होने के बाद एक टीवी इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा कि इस चुनाव में बड़े पैमाने पर जो बिडेन की ओर से किए गए चुनावी धांधली को मैं कभी नहीं भूल सकता हूं और कभी भी राष्ट्रपति को तौर पर बिडेन को स्वीकार नहीं करूंगा।

US Election 2020: राष्ट्रपति ट्रंप ने आखिरकार मान ली हार! कहा- बिडेन जीते तो छोड़ दूंगा व्हाइट हाउस

उन्होंने इस दौरान आरोप लगाया कि जो बिडेन के इस वोटिंग फ्रॉड के षड़यंत्र में डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस और फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (FBI) भी शामिल है।

मेरी राय नहीं बदल सकती: ट्रंप

रविवार को फॉक्स न्यूज को दिए साक्षात्कार में ट्रंप ने कहा कि आप मेरी राय नहीं बदल सकते हैं। पिछले 6 महीने में मेरा राय नहीं बदला है। इस चुनाव में धांधली हुई है और यह पूरी तरह से एक फर्जी चुनाव था। यदि ऐसा नहीं होता तो वे आराम से चुनाव जीत जाते।

ट्रंप ने कहा कि जो बिडेन के साथ चुनावी धांधली में FBI और न्याय विभाग के अधिकारी भी शामिल हो सकते हैं। बता दें कि ट्रंप के अभियान टीम की ओर से चुनावी धांधली को लेकर कोर्ट का दरवाजा खटखटाया जा रहा है, लेकिन अब तक कई याचिका खारिज हो चुकी है और कोर्ट ने कहा है कि ट्रंप की अभियान टीम ने अपने दावों के पक्ष में कोई ठोस सबूत पेश नहीं किए हैं।

अदालत से Donald Trump को झटका, कोर्ट ने कहा- बिडेन की जीत पर नहीं लगा सकते रोक, जनता चुनती है राष्ट्रपति

शनिवार को पेन्सिलवेनिया की सुप्रीम कोर्ट ने ट्रंप के समर्थकों की ओर से जो बिडेन की जीत के खिलाफ दायर लॉ सूट खारिज कर दिया। इसपर ट्रंप ने कहा कि हम सबूत पेश करने की कोशिश करते हैं, लेकिन जज हमें इसकी इजाजत नहीं देते। हम फिर भी कोशिश कर रहे हैं। हमारे पास बहुत सबूत है।

ट्रंप ने अपने दावे के पक्ष में दिए सबूत

डोनाल्ड ट्रंप ने साक्षात्कार में अपने दावों के समर्थन में कई साक्ष्य देने की कोशिश की। उन्होंने बताया कि लाखों की संख्या में लोगों ने मेल इन बैलेट के तहत मतदान किया। इनमें से आप ऐसे लोगों को जरूर जानते होंगे जिन्हें दो, तीन या चार मेल इन बैलेट मिले हैं और मैं भी ऐसे लोगों को जानता हूं। कई कहते हैं कि मुझे चार बैलेट मिले हैं। उन्होंने कहा कि कई ऐसे लोग हैं जिन्होंने मौत के बाद मतदान किया। ऐसे में ये समझा जा सकता है कि चुनाव में किस तरह से धांधली हुई है।

आपको बता दें कि जो बिडेन को 306 इलेक्टोरल वोट मिले हैं, जबकि डोनाल्ड ट्रंप को 232 इलेक्टोरल वोट मिले हैं। अमरीका के 538 सदस्यों वाली सीनेट में बहुमत के लिए 270 इलेक्टोरल वोटों के समर्थन की जरूरत होती है।

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned