रैंकिंग के हिसाब से महिला कैडेट्स के साथ रेप करते थे अमरीकी नौसैनिक

रैंकिंग के हिसाब से महिला कैडेट्स के साथ रेप करते थे अमरीकी नौसैनिक

Siddharth Priyadarshi | Publish: May, 20 2019 04:42:29 PM (IST) | Updated: May, 29 2019 02:22:44 PM (IST) अमरीका

  • अमरीकी नौसेना में सामने आया बड़ा स्कैंडल
  • महिला कर्मियों के साथ इस तरह हो रही थी बदसलूकी
  • जानकारी के बाद भी वरिष्ठ अधिकारियों ने कुछ नहीं किया

वाशिंगटन। अमरीका में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसके बाद वहां की सेना में हड़कंप मच गया है। अमरीकी नौसेना के एक युद्धपोत पर नौसिनकों ने महिला नाविकों की रैकिंग कर लिस्ट बनाई थी । बताया जा रहा है इस लिस्ट के हिसाब से बाकायदा वहां महिला कैडेट्स के साथ रेप होता था। मामला सामने आने के बाद अमरीकी नौसेना मुख्यलय में हड़कंप मच गया है।

ट्रंप और ओबामा ने दी अमरीकी राजनीति को नई दिशा, बदल गए राष्ट्रपति होने के मायने

क्या है मामला

एक रिपोर्ट में कहा गया है कि अमरीकी पनडुब्बी में सवार नाविकों ने महिला साथियों के साथ बलात्कार करने के लिए एक सूची बनाई और इसके आधार पर उनका शारीरिक शोषण किया गया। बताया जा रहा है कि जांच के बाद शिप के कमांडर को बर्खास्त कर दिया गया। आउटलेट मिलिट्री डॉट कॉम नमक एक पोर्टल ने एक जांच रिपोर्ट का हवाला देते हुए सूचना की स्वतंत्रता अधिनियम (FOIA) के माध्यम से इस मामले में होने वाले कार्रवाई से नौसेना से जवाब मानेगा है। 74 पेज की जांच रिपोर्ट से कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। असल में यूएसएस फ्लोरिडा पनडुब्बी पर तैनात नौसैनिकों ने महिला कैडेट्स की एक लिस्ट बनाई थी। इस 'रेप लिस्ट' में महिला क्रू मेंबर्स की रैंकिंग की गई थी। इसी रैंकिंग के हिसाब से उन्हें शारीरिक शोषण का शिकार होना पड़ता था। खबरों में बताया गया है की इस लिस्ट में महिला क्रू मेंबर्स के लिए बेहद अभद्र भाषा का प्रयोग भी किया गया था।

ट्रंप ने दी चेतावनी, ईरान में सेना की मौजूदगी को बढ़ा सकता है अमरीका

महिला कैडेट्स का इस तरह हो रहा था शोषण

इस मरीन शिप पर 173 लोगों के दल में 32 महिलाएं थीं। इनमें दो मुख्य छोटी रैंक की अधिकारी भी शामिल थीं। कुछ हफ्तों की यात्रा के दौरान पुरुष दल के सदस्यों ने कथित तौर पर पनडुब्बी के कंप्यूटर नेटवर्क पर बनाई गई एक "बलात्कार सूची" को अपडेट करने के लिए वोट दिया। इस सूची में महिला कैडेट्स के सभी विवरण लिखे होते थे। इस सूची में महिला कैडेट्स के बारे में कई तरह की अवांछित और अश्लील टिप्पड़ियां भी की गई थीं। रिपोर्ट में कथित तौर पर कहा गया है कि इस सूची की जानकारी वरिष्ठों को थी लेकिन उन्होंने महिला कैडेट्स को इस जलालत से निजात दिलाने के लिए कोई प्रयास नहीं किया।

 

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned