ट्रंप के खिलाफ लागू हुआ महाभियोग तो हो जाएगा 1,02,37,38,800 रुपए का नुकसान

  • महाभियोग लागू होने के बाद किसी भी पूर्व राष्ट्रपति को नहीं मिलती सालाना लाखों करोड़ों रुपए की सुविधाएं
  • हर साल 2 लाख डॉलर और सालाना 10 लाख डॉलर तक यात्रा भत्ता मिलने से रह सकते हैं महरूम

By: Saurabh Sharma

Updated: 14 Jan 2021, 10:15 PM IST

न्यूयॉर्क। अमरीका के इतिहास में महज हफ्ते भर के अंतर से 2 अहम घटनाएं दर्ज हो गईं हैं। पहले तो अमरीकी कैपिटल हिल पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने हिंसक हमला किया और अब ट्रंप पर अमरीका की हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव्स ने उन पर दूसरी बार महाभियोग लगा दिया है। महाभियोग पर 232-197 के साथ मतदान पूरा हो चुका था। इतना ही नहीं 10 रिपब्लिकन ने भी ट्रंप पर महाभियोग चलाने के लिए मतदान किया। महाभियोग के लिए 218 मतों की जरूरत होती है। अगर सीनेट में भी यह प्रस्ताव पास हो जाता है तो ट्रंप को 102 करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान हो सकता है। वास्तव में यह उन सुविधाओं का कुल योग है, जो ट्रंप को पद से हटने के बाद अगले 10 सालों तक दी जाती।

देश के ऐसे पहले राष्ट्रपति हैं ट्रंप
ट्रंप पर महाभियोग लगाने की प्रक्रिया होने के बाद वे देश के ऐसे पहले राष्ट्रपति बन गए हैं, जिन पर दो बार महाभियोग लगा है। 2020 के चुनावों में हुई हार के नतीजे न स्वीकारने की कड़ी में उन्होंने अपने हजारों समर्थकों को कैपिटल तक मार्च करने के लिए उकसाया था। वह भी ऐसे हालात में जबकि देश में कोरोना महामारी के कारण 3.7 लाख से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। उनके ऐसे व्यवहार ने ट्विटर को उनके अकाउंट पर प्रतिबंध लगाने पर मजबूर कर दिया। ट्रंप का अकाउंट इस समय निलंबित है।

पहली बार तब लगा था चार्ज
ट्रंप को पहली बार 2019 में यूक्रेन के साथ की गई उनकी डीलिंग को लेकर हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव्स ने पहली बार महाभियोग लगाया गया था, लेकिन सीनेट ने 2020 के प्रारंभ में उन्हें बरी करने के लिए मतदान कर दिया था।फरवरी 2020 में डोनाल्ड ट्रंप के सहयोगियों रिपब्लिकन के बहुमत वाले सीनेट ने शक्ति के दुरुपयोग के आरोप को 52-48 के अंतर से खारिज कर दिया था। डोनाल्ड ट्रंप महाभियोग का आरोप लगने के बावजूद दोबारा राष्ट्रपति चुनाव लडऩे वाले पहले व्यक्ति हैं।

यह भी पढ़ेंः- अब ट्रंप को होगा कारोबार में नुकसान, ट्विटर, फेसबुक के बाद अब इन कंपनियों ने तोड़ा नाता

छिन सकती हैं यह सुविधाएं
जब भी अमरीकी राष्ट्रपति व्हाइट हाउस को अंतिम विदाई देता है तो उसके बाद उसे कई तरह की सुविधाएं दी जाती है। वहीं 1958 के पूर्व राष्ट्रपति एक्ट के तहत महाभियोग द्वारा हटाए गए राष्ट्रपति को वो सुविधाएं नहीं जाती हैं। अगर ट्रंप पर महाभियोग लागू होता है तो वो भी इन सुविधाओं से महरूम रह जाएंगे।

- पूर्व राष्ट्रपति को सालाना 2 लाख डॉलर पेंशन मिलती है।
- सालाना 10 लाख डॉलर तक यात्रा भत्ता दिया जाता है।
- सीक्रेट सर्विस प्रोटेक्शन का प्रावधान किया गया है।
- पूर्व राष्ट्रपति को 50,000 डॉलर का सालाना खर्च अकाउंट और 19,000 डॉलर मनोरंजन भत्ता दिया जाता है।
- अगर ट्रंप अगले 10 साल भी जिंदा रहे तो सब मिलाकर 1.4 करोड़ डॉलर यानी 1,02,37,38,800 रुपए का नुकसान होगा।

किसी सरकारी पर पद नहीं हो सकते आसीन
महाभियोग के तहत सीनेट के पास यह पॉवर है कि वो प्रेसिडेंट को भविष्य में किसी भी सरकारी पद महरूम रख सकता है। खास बात यह है कि वो भी इस संबंध वो पूर्व प्रेसीडेंट कहीं भी अपील भी नहीं कर पाएगा। साथ ही महाभियोग से हटाए गए प्रेसिडेंट को मिलने वाला 4 लाख डॉलर का वेतन तुरंत बंद हो जाता है। सरकारी मकान से लेकर निजी हवाई जहाज और हेलिकॉप्टर सबकुछ छीन लिया जाता है।

Donald Trump राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप
Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned