American Air Force ने इस महीने दूसरी बार रचा इतिहास, पहली बार कोई महिला बनीं चीफ मास्टर सार्जेंट

HIGHLIGHTS

  • अमरीकी वायुसेना ( American Air Force ) में पहली बार किसी महिला को चीफ मास्टर सार्जेंट चुना गया है।
  • चीफ मास्टर सार्जेंट जोएन एस बास ( Joannes Bass became Chief Master Sergeant ) किसी अमरीकी सैन्य सेवा में शीर्ष 'एन्लिस्टिड लीडर’ चुनी जाने वाली पहली महिला बन गईं हैं।
  • करीब दो सप्ताह पहले अमरीकी सीनेट ( US Senate ) ने जनरल चार्ल्स क्यू ब्राउन ( General Charles Q. Brown ) को वायुसेना के चीफ ऑफ स्टाफ पद पर नियुक्त किया था।

By: Anil Kumar

Updated: 21 Jun 2020, 04:31 PM IST

वाशिंगटन। अमरीका ( America ) में जॉर्ज फ्लॉयड की मौत ( George Floyd Death ) के बाद प्रदर्शन का सिलसिला जारी है। लेकिन इस बीच अमरीकी वायुसेना ने इस महीने दूसरी बार इतिहास रचा है।

दरअसल, अमरीकी वायुसेना में पहली बार किसी महिला को चीफ मास्टर सार्जेंट ( Chief Master Sergeant ) चुना गया है। चीफ मास्टर सार्जेंट जोएन एस बास ( Chief Master Sergeant Joannes S Bass ) किसी अमरीकी सैन्य सेवा में शीर्ष 'एन्लिस्टिड लीडर’ चुनी जाने वाली पहली महिला बन गईं हैं। जोएन एस बास अमरीकी वायुसेना ( American Air Force ) में 19वां चीफ मास्टर सार्जेंट चुनी गई हैं।

चुनावी रैली में Donald Trump ने खुद की पीठ थपथपाई, कहा- नेशनल गार्ड को तैनात कर मैंने अमरीका को बचाया

बता दें कि नस्लवाद के खिलाफ हो रहे भारी विरोध-प्रदर्शन के बीच करीब दो सप्ताह पहले अमरीकी सीनेट ने जनरल चार्ल्स क्यू ब्राउन को वायुसेना के चीफ ऑफ स्टाफ पद पर नियुक्त किया था। चार्ल्स क्यू ब्राउन अमरीकी वायुसेना का चीफ बनने वाले पहले अश्वेत नागरिक हैं। ब्राउन अगस्त में कार्यभार संभालेंगे।

सैन्य सेवा प्रमुख नहीं बनी है कोई महिला

आपको बता दें कि अमरीकी सेना ( American Air Force ) में उच्च पदों पर आज तक किसी भी महिला को सेवा का मौका नहीं मिला है। उच्च पदों पर बहुत ही कम महिलाओं को पदोन्नत किया जाता है। अमरीका के इतिहास में अभी तक किसी महिला को किसी सैन्य सेवा के प्रमुख के तौर पर सेवा देने का मौका नहीं मिला है और न ही किसी महिला ने ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ ( Joint chief of staff ) के सदस्य के तौर पर सेवा दी है।

जोएन एस बास वायुसेना के एन्लिस्टिड यानी कि सूचीबद्ध कर्मियों के कल्याण संबंधी मामलों पर ब्राउन और वायु सेना सचिव बारबरा बैरेट की वरिष्ठ सलाहकार होंगी।

America: राष्ट्रपति Trump ने उइगर मुसलमान मानवाधिकार कानून पर किए हस्ताक्षर, चीन की बढ़ेगी मुश्किलें

मालूम हो कि जोएन एस बास हवाई प्रांत ( Hawai Province ) की रहने वाली हैं। अभी वह मिसिसिपी के वायुसेना अड्डे पर कमांड चीफ मास्टर सार्जेंट के रूप में सेवाएं दे रही हैं। बास 1993 में वायुसेना में भर्ती हुईं थी।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned