वामपंथी नेता आंद्रेस मैनुअल लोपेस मैक्सिको के नए राष्ट्रपति बने, ट्रंप ने दी बधाई

वामपंथी नेता आंद्रेस मैनुअल लोपेस मैक्सिको के नए राष्ट्रपति बने, ट्रंप ने दी बधाई

Anil Kumar | Publish: Jul, 03 2018 03:49:42 PM (IST) अमरीका

सत्ताधारी पार्टी इंस्टीट्यूशनल रेवोल्यूशनरी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जोस एंतोनिया मीडे ने अपनी हार स्वीकार कर ली जिसके बाद से आंद्रेस मैनुअल को अगले राष्ट्रपति के तौर पर चुन लिया गया।

नई दिल्ली। वामपंथी विचारधारा के नेता आंद्रेस मैनुअल लोपेस ओबराडोर मैक्सिको के नए राष्ट्रपति चुन लिए गए हैं। इससे पहले सत्ताधारी पार्टी इंस्टीट्यूशनल रेवोल्यूशनरी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जोस एंतोनिया मीडे ने अपनी हार स्वीकार कर ली जिसके बाद से आंद्रेस मैनुअल को अगले राष्ट्रपति के तौर पर चुन लिया गया। आपको बता दें कि रविवार को जारी हुए एक एक्जिट पोल में लोपेस ओबराडोर को भारी मतों से जीत मिलने की संभावना जाहिर की गई थी। इसके बाद से सत्ताधारी दल के नेता जोस एंतोनिया मीडे ने कहा कि वामपंथियों को बहुमत मिल गई है। मीडे ने कहा कि मैं आंद्रेस मैनुअल की सफलता की कामना करता हूं।

ट्रंप ने ट्वीट कर दी बधाई

बता दें कि आंद्रेस मैनुअल के विजय होने पर अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बधाई दी और कहा कि सत्ता-विरोधी वामपंथियों के साथ मिलकर काम करने को बेताब हूं। अमरीकी राष्ट्रपति ने वामपंथी नेता की तारीफ करते हुए एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा 'ऐसा बहुत कुछ करना है जिससे अमेरिका और मैक्सिको दोनों को फायदा हो।' गौरतलब है कि ट्रंप की व्यापार विरोधी और इमीग्रेशन पॉलिसी के कारण अमरीका और मैक्सिको के बीच संबंध बेहद खराब हो गए हैं। लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि शायद दोनों देशों के बीच संबंध में कुछ सुधार हो।

मैक्सिको ने कहा, US से निकले भारतीय हमारे यहां काम करते हैं तो ये खुशी की बात

प्रत्येक 6 वर्ष में होता है चुनाव

बता दें कि रविवार को मैक्सिको में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान हुए थे। मैक्सिको के इतिहास में यह चुनाव कई मायनों में ऐतिहासिक रहा है। बता दें कि मैक्सिको में इन दिनों गरीबी, हिंसा और भ्रष्टाचार चरम पर है। इन सब वजहों से बीते 11 वर्षों में करीब दो लाख लोगों को अपनी जान गवांनी पड़ी है। सबसे हैरान करने वाली बात यह रही कि चुनाव प्रचार के दौरान बीते 9 महीने में मैक्सिको के 31 में से 22 राज्यों में 133 राजनेताओं की हत्या हो चुकी है। गौरतलब है कि 2012 के चुनाव में करीब 10 नेताओं की हत्या हुई थी। बता दें कि मैक्सिको में प्रत्येक 6 वर्षों में राष्ट्रपति के लिए चुनाव होते हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned