मलाला यूसुफजई ने की डोनाल्ड ट्रंप की निंदा, कहा 2300 बच्चों को परिवार से अलग करना है अमानवीय

Kiran Rautela

Publish: Jul, 12 2018 12:49:34 PM (IST)

अमरीका
मलाला यूसुफजई ने की डोनाल्ड ट्रंप की निंदा, कहा 2300 बच्चों को परिवार से अलग करना है अमानवीय

अमरीका में अवैध तरीके से आए प्रवासियों के बच्चों को उनके परिवार से अलग कर दिया गया जो कि अमानवीय और गलत है।

नई दिल्ली। नोबल शांति पुरस्कार से सम्मानित मलाला यूसुफजई ने अमरीका में प्रवासियों की नीति को लेकर अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की जमकर आलोचना की है।

बच्चों को किया गया उनके परिवार से अलग

मलाला ने कहा कि अमरीका में अवैध तरीके से आए प्रवासियों के बच्चों को उनके परिवार से अलग कर दिया गया है जो कि अमानवीय और गलत है।

मलाला - डे @ बाल विवाह की बेडिय़ों में सोना ने किया संघर्ष, अब 11 ग्राम पंचायतों में शिक्षा की अलख जगा कर नाम ही बन रहा पहचान

ट्रंप की नीति को बताया क्रूर

मलाला ने ट्रंप की इस नीति को क्रूर बताया है। मलाला ने कहा कि बच्चों को उनके माता-पिता से अलग करना कहां कि मानवता है। ऐसा काम कोई भी नहीं करता है।

अभी तक 2300 बच्चों को उनके माता-पिता से अलग किया गया

मलाला ने बताया कि मैक्सिको से अमरीका में अवैध रूप से आए प्रवासियों के लिए ट्रंप सरकार ने गलत नीति अपना रखी हैै। मालाला ने आंकड़ों का जिक्र करते हुए बताया कि मई महीने से लेकर अभी तक कई प्रवासी परिवारों से लगभग 2300 बच्चों को उनके माता-पिता से अलग कर दिया है।

पाकिस्तान मेरा देश है, वतन लौटकर पीएम पद के लिए लडूंगी चुनाव : मलाला यूसुफजई

ट्रंप सरकार ने दी मामले पर सफाई

वहीं ट्रंप सरकार ने अपनी सफाई में कहा है कि ऐसे अवैध रूप से आए प्रवासी परिवारों के कई बालिग सदस्यों पर कानूनी कार्यवाही होनी है, जिसकी वजह से ही इन बच्चों को अलग रखा गया है।

बहुत ही कठोर और निंदनीय नीति

हांलाकि काफी निंदा और अदालत के फैसले के बाद से इस नीति को बंद कर दिया गया है। मलाला ने पत्रकारों से कहा कि यह बहुत ही कठोर और निंदनीय नीति थी। मुझे नहीं पता था कि कोई इतना कठोर भी हो सकता है।

गौरतलब है कि मलाल इन दिनों ब्राजील, लैटिन अमरीका के दौरे पर है और बच्चियों की शिक्षा के लिए काम कर रही है।

Ad Block is Banned