मेक्सिको: एक साथ मिलीं 166 खोपड़ियां, इलाके में दहशत, दो साल पहले हुआ था नरसंहार

मेक्सिको: एक साथ मिलीं 166 खोपड़ियां, इलाके में दहशत, दो साल पहले हुआ था नरसंहार

Shweta Singh | Publish: Sep, 07 2018 05:58:33 PM (IST) अमरीका

ये कब्र नशे के सामान की तस्करी करने वाले एक संदिग्ध इलाके में मौजूद थे।

मेक्सिको नगर। मेक्सिको के एक इलाके में अचानक सैकड़ों कंकाल की खोपियों के मिलने से बवाल मच गया। मीडिया रिपोर्ट की माने को वहां के वीराक्रूज प्रांत में करीब 166 कंकालों की खोपियां बरामद किए गए हैं, जिन्हें 32 मास ग्रेव्स से निकाला गया है। बताया जा रहा है कि ये ग्रेव्स नशे के सामान की तस्करी करने वाले एक संदिग्ध इलाके में मौजूद थे।

सुरक्षा कारणों से कब्र की सटीक जानकारी देने से इनकार

इनके बरामदगी पर वहां के अदालत में सरकारी वकील ने जानकारी दी कि इन कब्रों में लोगों के अवशेष करीब दो साल पहले दफनाए गए थे। हालांकि उन्होंने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए कब्र वाली जगह की सटीक जानकारी सार्वजनिक करने से इनकार कर दिया। लेकिन मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि इस इलाके को कई वर्षों तक तस्कर अपने शिकारों को दफनाने के इस्तेमाल करते रहे हैं।

जांचकर्ताओं को मिले हैं अन्य सामान

इस बारे में मीडिया से बातचीत करते हुए सरकारी वकील ने जानकारी दी कि जांचकर्ताओं ने वहां से कई अन्य सामान भी बरामद किए हैं। उनके मुताबिक अन्य वस्तुओं में कपड़े की 200 चीजें, 100 से ज्यादा पहचान पत्र और कुछ निजी चीजें शामिल हैं।

और अवशेष मिलने की संभावना

इस संबंध में आगे का जांच चल रही है। सरकारी वकील ने और अवशेष मिलने की संभावना जताई है। अधिकारियों का कहना है कि ड्रोन और ग्राउंड पेनेट्रेटिंग रडारों की मदद से बाकी अवशेषों के बारे में पता लगाने की कोशिश की जा रही है। इसके साथ ही फोरेंसिक विशेषज्ञ भी अभी तक मौके पर जांच करने में जुटे हुए हैं। बता दें कि ऐसे अचानक इतनी संख्या में कंकाल बरामद होने का ये पहला मामला नहीं है। इससे पहले पिछले साल यानी मार्च 2017 में भी एक ऐसे ही मास ग्रेव से 250 खोपड़ियां पाई गई थी।

सेना की तैनाती से भी नहीं रूके अपराध

गौरतलब है कि लंबे अर्से से मेक्सिको में लापता हुए लोगों के परिजन अपने परिवारवालों को ढूंढने की कोशिशों में तेजी की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। 2006 में मेक्सिको में बाहुबली ड्रग कार्टेल्स से निपटने के लिए सेना की भी तैनाती की गई थी। लेकिन इसके बाद भी नशे से जुड़ी हिंसा के मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

करीब दो लाख से ज्यादा लोगों की मौत

इससे संबंधित आंकड़ों पर गौर करें तो अबतक करीब दो लाख से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं। इनमें से 28,702 लोगों की मौत पिछले वर्ष ही हुई थी। इसके अलावा लगभग 37 हजार लोगों की गायब होने का भी मामला दर्ज हुआ है। बताया जा रहा है कि मारे गए लोगों में ड्रग कार्टेल के सदस्यों के अलावा अमरीका से भाग खड़े हुए वो प्रवासी शामिल हैं, जिन्होंने तस्करी में संलिप्त होने से मना कर दिया।

Ad Block is Banned