सूख गया अमरीका और फ्रांस की दोस्ती का प्रतीक माने जाने वाला 'ओक' का पेड़

सूख गया अमरीका और फ्रांस की दोस्ती का प्रतीक माने जाने वाला 'ओक' का पेड़

Mohit Saxena | Publish: Jun, 10 2019 03:15:23 PM (IST) | Updated: Jun, 10 2019 06:34:34 PM (IST) अमरीका

  • रविवार को इस पेड़ के सूखने की तस्वीरें सामने आईं
  • ये पेड़ प्रथम विश्व युद्ध में शहीद सैनिकों की याद दिलाता है
  • डोनाल्ड ट्रम्प और इमैनुएल मैक्रोन ने लगाया था यह पेड़

न्यूयॉर्क । डोनाल्ड ट्रंप और इमैनुएल मैक्रोन द्वारा वाइट हाउस में लगाए गए ओक के पेड़ को दोनों देशों के बीच संबंधों के प्रतीक के रूप में देखा गया। मगर इस पेड़ ने रविवार को दम तोड़ दिया। ये पेड़ प्रथम विश्व युद्ध के बेल्यू वुड की लड़ाई में मारे गए शहीदों की याद दिलाता है। आज से 100 साल पहले यानी साल 1918 में प्रथम विश्‍व युद्ध के दौरान फ्रांस की राजधानी पेरिस के नजदीक लड़ते हुए 2000 हजार अमरीकी सैनिकों ने अपनी जान गंवाई थी।

बदतर हुए पाकिस्तान के हालात, पीएम इमरान खान ने दिया 30 जून तक बेनामी सम्पति बताने का अल्टीमेटम

 

ट्रम्प-मैक्रॉन

बेहद अहम था यह पेड़ !

आजादी की लड़ाई के उस पल और जगह की याद में यह Oak tree लगाया गया। इमैनुअल मैक्रॉन के ट्वीट को पढ़कर ऐसा लगता है कि व्‍हाइट हाउस में लगाए गए इस ओक के पौधे की कितनी अहमियत है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार व्हाइट हाउस दक्षिण लॉन में इसकी सैमपलिंग को लगाया गया। मगर वह ज्यादा दिन तक जिंदा नहीं रह सका। फ्रांसीसी मीडिया में कई रिपोर्ट के अनुसार पौधे की मृत्यु हो गई।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned