ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, ट्रायल के दौरान हुई थी बड़ी गड़बड़ी

  • ऑक्सफोर्ड शोधकर्ताओं ने वैक्सीन की मात्रा को मापने में की थी गलती
  • वॉलंटियर्स को वैक्सीन की लगभग आधी ही डोज दी गई थी

By: Vivhav Shukla

Published: 02 Feb 2021, 07:29 PM IST

वाशिंगटन: ऑक्सफोर्ड- एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन को लेकर नया खुलासा हुआ है। ये चौंकाने वाला खुलासा न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने एक डाक्यूमेंट्स के बेस पर किया है। इसमें कहा गया है कि वैक्सीन के आखिरी चरण के ट्रायल में शामिल हुए लगभग 1500 वॉलंटियर्स को वैक्सीन की गलत डोज दी गई थी। हैरानी की बात ये है कि इसके बारे में वॉलंटियर्स को भी कुछ नहीं बताया गया ।

कोरोना वायरस: क्या एक साथ दो मास्क पहनने से वाक़ई में कम हो जाता है संक्रमण का ख़तरा ?

रिपोर्ट के अनुसार, ऑक्सफोर्ड शोधकर्ताओं ने वैक्सीन की मात्रा को मापने में गलती की, जिसके कारण वॉलंटियर्स को वैक्सीन की लगभग आधी ही डोज दी गई थी।इस ट्रायल वैक्सीनेसन के दस्तावेज पर ऑक्सफोर्ड के प्रोफेसर और ट्रायल के चीफ इन्वेस्टिगेटर एंड्रयू जे पोलार्ड के हस्ताक्षर भी मिले हैं। हालांकि पोलार्ड ने इस तरह की किसी भी गलती को स्वीकार नहीं किया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि गलत डोज की जानकारी शोधकर्ताओं ने ब्रिटिश मेडिकल रेगुलेटरर्स को भी थी। जिसके बाद रेगुलेटर्स ने वैक्सीन की पूरी डोज देने के लिए वॉलंटियर्स का एक दूसरा ग्रुप बनाने के लिए कहा था लेकिन ऑक्सफोर्ड की तरफ से इस तरह की किसी भी गलती को स्वीकार नहीं किया गया है।लेकिन अब सबकुछ सामने आने के बाद ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन जांच के घेरे में आ गई है।

Corona के डर से एयरपोर्ट पर तीन महीने तक छिपा रहा शख्स, भांडा फूटने पर हुआ गिरफ्तार

बता दे ऑक्सफोर्ड- एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल दुनियाभर में किया जा रहा है। यूके, यूरोपीय संघ और भारत सहित कई देशों के लोगों को यह वैक्सीन लगाई जा रही है।

Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned