चुनाव से पहले राष्ट्रपति Trump की बढ़ी मुश्किलें! 'मानसिक स्थिति' की जांच के लिए हो सकता है कमीशन का गठन

HIGHLIGHTS

  • डेमोक्रेटिक पार्टी की लीडर और हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की स्पीकर नैंसी पेलोसी ( Nancy Pelosi ) ने राष्ट्पति डोनाल्ड ट्रंप के ( Donald Trump Mental Health ) मानिसक व शारीरिक स्वास्थ्य परीक्षण कराए जाने की मांग की है।
  • पेलोसी ने कहा कि 25 वें संशोधन को लागू किया जाएगा, जो राष्ट्रपति द्वारा कार्यों को निष्पादित करने में सक्षम होने की स्थिति में कैबिनेट या कांग्रेस को हस्तक्षेप करने की अनुमति देता है।

By: Anil Kumar

Updated: 09 Oct 2020, 06:29 PM IST

वाशिंगटन। अमरीका में आगामी 3 नवंबर को राष्ट्रपति चुनाव ( US Presidential Election 2020 ) होने वाले हैं और अब मतदान में कुछ ही दिन शेष रह गए गए हैं। उससे पहले कोरोना संक्रमण का शिकार हो चुके अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुश्किलें खड़ी हो गई है।

दरअसल, डेमोक्रेटिक पार्टी की लीडर और हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की स्पीकर नैंसी पेलोसी ( Nancy Pelosi ) ने ट्रंप की मुश्किलें बढ़ाते हुए उनके मानिसक व शारीरिक स्वास्थ्य परीक्षण कराए जाने की मांग की है।

डोनाल्ड ट्रंप बोले- Kamla Harris अमरीका की पहली महिला राष्ट्रपति बनीं तो देश का होगा अपमान

इतना ही नहीं, मैरीलैंड डेमोक्रेटिक कांग्रेस के अध्यक्ष जेमी रस्किन के साथ मिलकर पेलोसी ने एक कानून लाने की योजना भी बना रही हैं। ऐसे में यदि ट्रंप के खिलाफ मानसिक स्थिति की जांच को लेकर कोई कानून का प्रस्ताव आता है तो ट्रंप के लिए एक बड़ा झटका है। इससे पहले कई बार ट्रंप की मानसिक स्थिति को लेकर सवाल खड़े किए जाते रहे हैं।

जांच के लिए हो सकता है कमीशन का गठन

बता दें कि नैंसी पेलोसी ने चुनाव से महज कुछ दिन पहले ही राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के मानसिक और शारीरिक स्थिति की जांच के लिए एक कमीशन गठन की मांग की है। यदि पेलोसी की मांग स्वीकार कर ली जाती है तो इस कमीशन का गठन अमरीकी संविधान के 25वें संशोधन के तहत कानून किया जाएगा।

नैंसी ने कहा कि संविधान संशोधन की धारा 4 उस प्रक्रिया का वर्णन करती है जिसके अनुसार, राष्ट्रपति बतौर राज्य प्रमुख के रूप में अपने कर्तव्यों को निभाने के लिए योग्य हैं या सक्षम हैं कि नहीं, इसका पता लगाने के लिए तमाम राजनेता एक साथ आ सकते हैं।

राष्ट्रपति ट्रंप ने किया पलटवार

नैंसी पेलोसी ने कहा है कि ट्रंप को अपने स्वास्थ्य के बारे में अधिक खुलासा करना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश की जनता को राष्ट्रपति की स्वास्थ्य की स्थिति जानने को पूरा हक है। पेलोसी ने कहा कि 25 वें संशोधन को लागू किया जाएगा, जो राष्ट्रपति द्वारा कार्यों को निष्पादित करने में सक्षम होने की स्थिति में कैबिनेट या कांग्रेस को हस्तक्षेप करने की अनुमति देता है।

इधर ट्रंप ने पेलोसी के इन आरोपों और मानसिक स्वास्थ्य की जांच की मांग को लेकर पलटवार किया है। ट्रंप ने ट्वीट करते हुए लिखा ‘नैन्सी खुद ‘क्रेजी’ हैं, उनका मानसिक परीक्षण होना चाहिए।

शनिवार को रैली में हिस्सा लेंगे ट्रंप

कोरोना संक्रमण से उबरने के बाद शुक्रवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वे शनिवार को फ्लोरिडा में आयोजित रैली में हिस्सा लेंगे। फॉक्स न्यूज से बात करते हुए उन्होंने कहा 'मुझे लगता है कि मैं शनिवार रात को एक रैली करने जा रहा हूं, अगर हमारे पास इसे एक साथ रखने के लिए पर्याप्त समय है।'

US President Election 2020: राष्ट्रपति ट्रंप का दावा, मैंने जीती पहला प्रेसिडेंशियल डिबेट

व्हाइट हाउस के चिकित्सक डॉ. सीन कॉनले ने गुरुवार को बताया था कि राष्ट्रपति ट्रंप शनिवार की शुरुआत में सार्वजनिक रूप से काम काज करने में सक्षम हो सकते हैं। बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप 2 अक्टूबर को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद उन्हें मैरीलैंड के वाल्टर रीड नेशनल मिलिट्री मेडिकल सेंटर में भर्ती कराया गया था। अब वे इस सप्ताह सोमवार को अस्पताल से व्हाइट हाउस लौट आए हैं। डॉ. कॉनले ने कहा कि ट्रंप गुरुवार को COVID-19 के लिए ट्रीटमेंट को पूरा कर चुके हैं। हालांकि अभी भी वे डॉक्टरों की निगरानी में ही हैं।

US President Donald Trump
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned