क्यूबा और अमरीका के बीच दोबारा पनपा तनाव, निकोलस मादुरो को समर्थन देने से ट्रंप नाराज

क्यूबा और अमरीका के बीच दोबारा पनपा तनाव, निकोलस मादुरो को समर्थन देने से ट्रंप नाराज

Mohit Saxena | Updated: 05 Jun 2019, 06:53:10 PM (IST) अमरीका

  • अमरीका ने क्यूबा पर इलाके को अस्थिर करने का लगाया आरोप
  • क्यूबा की कम्यूनिस्ट सरकार पर लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं पर रोक लगाने का आरोप
  • जलमार्ग के सहारे हर साल लाखों अमरीकी क्यूबा जाया करते हैं

वाशिंगटन। वेनेजुएला ( Venezuela ) के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ( Nicolas Maduro ) को समर्थन देने के आरोप में अमरीका ने क्यूबा को सबक सिखाने के लिए नए प्रतिबंध लगाए हैं। ट्रंप प्रशासन ने मंगलवार को क्यूबा जाने वाले अमरीकी यात्रियों पर पाबंदी लगाई है। नए नियमों के तहत अब अमरीकी पहले की तरह क्यूबा द्वीप की यात्रा नहीं कर सकेंगे। ट्रेजरी विभाग ने एक बयान में कहा कि संयुक्त राज्य अमरीका की ओर से निर्देश दिए गए है कि क्यूबा के लिए होने वाली शैक्षिक और सांस्कृतिक यात्राओं की अनुमति अब नहीं होगी। इसके अलावा क्यूबा में क्रूज, निजी नौकाओं या मछली पकड़ने के जहाजों को रुकने की अनुमति नहीं दी जाएगी। केवल विशेष परिस्थितियों में ही इसकी छूट होगी। यह नियम बुधवार से लागू कर दिए गए हैं।

सीमा पर दीवार बनाने के लिए मेक्सिको पर अतिरिक्त कर लगाएंगे ट्रंप, GOP सांसद करेंगे विरोध

करीब एक लाख से भी अधिक अमरीकियों ने यात्रा की

पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने क्यूबा द्वीप पर अमरीकी लोगों की यात्राओं को बढ़ावा दिया था। जलमार्ग के सहारे हर साल अमरीका से लाखों लोग क्यूबा में जाया करते हैं। इसी साल जनवरी से अप्रैल तक के आंकड़ों में पाया गया कि करीब एक लाख से भी अधिक अमरीकियों ने जलमार्ग के सहारे क्यूबा की यात्रा की। वहीं विमान से जाने वाले यात्रियों की संख्या इससे कम है। अमरीका का आरोप है कि क्यूबा ने पश्चिमी गोलार्ध में अस्थिर भूमिका निभाना जारी रखा है। ट्रेजरी सचिव स्टीवन मन्नुचिन ने मंगलवार को एक बयान में बताया कि वेनेजुएला और निकारागुआ जैसी जगहों पर अमरीका के खिलाफ गतिविधियां चलाई जा रहीं हैं। अस्थिरता को बनाए रखने, कानून के शासन को कम करने और लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं को दबाने की प्रक्रिया क्यूबा में बदस्तूर चल रहा है।गौरतलब है कि वेनेजुएला आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है। यहां के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो की मदद के लिए क्यूबा अपने यहां से सहायता भेज रहा है। यह अमरीका को पसंद नहीं है। अमरीका चाहता है कि मादुरो को हटाकर नई सरकार बनाई जाए। इसलिए वह विपक्ष को खुले तौर पर समर्थन दे रहा है।

नौ साल की सौतेली बेटी की बेरहमी से हत्या, मां को 22 साल की सजा

obama

54 साल बाद क्यूबा और यूएस में बहाल हुए थे रिश्ते

गौरतलब है कि अमरीका ने 54 साल बाद क्यूबा से 2015 में अपने संबंध दोबारा बेहतर किए थे। इस बीच अमरीका ने क्यूबा से नाता तोड़ लिया था। ओबामा के कार्यकाल में दोनो देश दोबारा से करीब आए थे। दोनों ने एक दूसरे के साथ राजनयिक संबंधों को फिर से बहाल किया गया। इस दौरान शीतयुद्ध के दौर से चले आ रहे संघर्ष को खत्म करने का प्रयास गया था। इस संघर्ष में एक मौका तब आया था जब वाशिंगटन ने आर्थिक प्रतिबंध के जरिए क्यूबा को घुटने टेकने पर मजबूर करने की कोशिश की थी । लेकिन फिदेल कास्त्रो के सत्ता से बाहर होते ही दोनों दशों ने अपने रैवैये में बदलाव किया और अपने संबंध बेहतर करने की कोशिश की थी।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned