ट्रंप ने दी चेतावनी, ईरान में सेना की मौजूदगी को बढ़ा सकता है अमरीका

ट्रंप ने दी चेतावनी, ईरान में सेना की मौजूदगी को बढ़ा सकता है अमरीका

Mohit Saxena | Publish: May, 20 2019 11:29:36 AM (IST) | Updated: May, 20 2019 07:20:07 PM (IST) अमरीका

  • कहा, इस्लामिक गणराज्य का 'आधिकारिक अंत' होगा
  • सैन्य टकराव से बचना चाहता है ईरान
  • नए परमाणु समझौते पर बातचीत में शामिल नहीं होगा ईरान

वाशिंगटन। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तेहरान को चेतावनी दी है कि यह इस्लामिक गणराज्य का "आधिकारिक अंत" होगा यदि वह अमरीका को धमकी देता है। ऐसे में वह राष्ट्र की सुरक्षा के लिए ईरान में अपनी सेना की मौजूदगी को बढ़ा सकता है। यह स्पष्ट नहीं है कि इस बार अमेरिकी नेता इस मामने को किस दिशा की ओर लेते जाते हैं। वहीं ईरानी अधिकारियों ने हाल के दिनों में लगातार कहा है कि वे अमेरिका के साथ सैन्य टकराव से बचना चाहते हैं। इससे पहले रविवार को, एलीट रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के कमांडर, मेजर जनरल होसैन सलामी ने जोर देकर कहा कि ईरान केवल शांति चाहता है, लेकिन वह अमेरिका से लड़ने से डरता नहीं है।

ब्राजील: बदमाशों ने की बार में ताबड़तोड़ फायरिंग, 11 लोगों की मौत

समुद्री सुरक्षा गश्त बढ़ानी शुरू कर दी

इससे पहले ईरानी सुप्रीम लीडर अयातुल्ला अली खामेनेई ने भी कहा था कि फारस की खाड़ी में कोई युद्ध नहीं होगा। हालांकि,उन्होंने कहा कि तेहरान अमरीका के साथ एक नए परमाणु समझौते पर बातचीत में शामिल नहीं होगा। ट्रंप प्रशासन हाल ही में ईरान पर प्रतिबंधों और उसके क्षेत्रीय जल के निकट एक सैन्य निर्माण के साथ दबाव बढ़ा रहा है। वाशिंगटन के पांचवे बेड़े में शामिल होने के बाद अमरीका और उसके सहयोगियों ने इस हफ्ते फारस की खाड़ी के अंतर्राष्ट्रीय जल क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा गश्त बढ़ानी शुरू कर दी।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned