US Election 2020: फेडरल कोर्ट में आज पेंसिलवानिया के चुनावी नतीजे पर होगी सुनवाई, ट्रंप समर्थकों ने की थी शिकायत

HIGHLIGHTS

  • US Presidential Election Result 2020: ट्रंप समर्थकों ने चुनाव में धांधली को लेकर पेंसिलवानिया से जुड़े मुकदमें में एक शिकायत को वापस ले लिया, जबकि एक अन्य मामले में आज सुनवाई होगी।
  • ट्रंप समर्थकों ने आरोप लगाया है कि लाखों डाक पत्रों की गिनती गलत तरीके से की है। ऐसे मतों की संख्या 6,82,479 है।

By: Anil Kumar

Updated: 17 Nov 2020, 10:59 AM IST

वाशिंगटन। अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव के परिणाम ( US Presidential Election Result 2020 ) सामने आ चुके हैं और डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बिडेन ( Joe Biden ) को विजेता घोषित किया गया है, लेकिन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( president Donald Trump ) इसे मानने को तैयार नहीं हैं और कोर्ट को दरवाजा खटखटाने की बात कही है।

इन सबके बीच ट्रंप समर्थकों ने चुनाव में धांधली को लेकर पेंसिलवानिया ( Result of Pennsylvania ) से जुड़े मुकदमें में एक शिकायत को वापस ले लिया, जबकि एक अन्य मामले में आज सुनवाई होगी। ट्रंप समर्थकों ने आरोप लगाया है कि लाखों डाक पत्रों की गिनती गलत तरीके से की है। ऐसे मतों की संख्या 6,82,479 है।

US Election 2020: हार मानने के बाद फिर से पलटे डोनाल्ड ट्रंप, कहा- मैं चुनाव जीत गया!

जिस समय वोटों की गिनती की जा रही थी तब रिपब्लिकन पार्टी का कोई प्रतिनिधि वहां मौजूद नहीं था। ऐसे में वोटों की हेरा-फेरी की गई है।

वोटों में धांधली करने का आरोप

रिपब्लिकन पार्टी के समर्थकों ने पेंसिलवानिया के परिणाम को लेकर फेडरल कोर्ट में याचिका दायर की है। इस याचिका में जो बिडेन को पेंसिलवानिया से विजेता घोषित किए जाने के निर्णय को रद्द करने की मांग की गई है।

याचिका में कहा गया है कि वोटों की गिनती के दौरान डेमोक्रेटिक को रिपब्लिकन वोटों से अधिक तरजीह दी गई। जिन वोटों में गलतियां थी उसे ठीक करने का मौका दिया गया। यदि ये गलतियां ठीक नहीं की जाती तो ऐसे वोट रद्द हो सकते थे और पेंसिलवानिया का नतीजा कुछ और होने वाला था।

US Election Result: एरिजोना-जॉर्जिया के नतीजों के बाद डेमोक्रेट का आंकड़ा पहुंचा 306, बिडेन 20 जनवरी को लेंगे शपथ

याचिकाकर्ताओं ने कोर्ट से मांग की है कि वैसे वोटों को रद्द किया जाए, जिसे ठीक करने का मौका दिया गया। दायर मुकदमें ये आरोप लगाया गया है कि जिन क्षेत्रों में डेमोक्रेट का ज्यादा वोट होने की संभावना थी वहां डाक मतों की पहचान की गई और कानून का उल्लंघन किया गया।

ये धांधली चुनाव से एक दिन पहले की गई। जिन वोटों में गलतियां थी उसे मतदाताओं को सुधारने का मौका दिया गया। कई मतपत्रों में गुप्त लिफाफा नहीं था तो कई मतों में मतदाताओं के हस्ताक्षर नहीं थे। इन्हीं गलतियों को सुधारने का मौका दिया गया, ताकि इसकी गिनती डेमोक्रेट के पक्ष में हो सके।

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned