इराकी प्रधानमंत्री के पूर्व सुरक्षा सलाहकार पर अमेरिका ने लगाया प्रतिबंध

अमेरिका ने इराकी पॉपुलर मोबलाइजेशन कमेटी (पीएमसी) के चेयरमेन फलीह अल-फय्यद पर प्रतिबंध लगाए हैं

By: विकास गुप्ता

Published: 09 Jan 2021, 03:53 PM IST

वॉशिंगटन। अमेरिका ने एक इराकी मिलिशिया लीडर के खिलाफ गंभीर मानवाधिकार दुरुपयोग करने के कारण प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, ट्रेजरी विभाग ने शुक्रवार को बयान जारी करके कहा है कि उसने इराकी पॉपुलर मोबलाइजेशन कमेटी (पीएमसी) के चेयरमेन फलीह अल-फय्यद पर प्रतिबंध लगाए हैं, जो पहले इराकी प्रधानमंत्री के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के रूप में काम करते थे।

ट्रेजरी ने आरोप लगाया है कि "अल-फय्यद ईरान लोकप्रिय मोबिलाइजेशन फोर्सेस (पीएमएफ) के एक संकट प्रकोष्ठ का हिस्सा था, जिसे 2019 के आखिर में इस्लामिक रेवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स-कोड्स फोर्स (आईआरजीसी-क्यूएफ) के समर्थन से इराकी विरोध प्रदर्शनों को दबाने के लिए बनाया गया था।"

बयान में कहा गया है कि पीएमएफ के ईरान-गठबंधन वाले तत्व इराक में राजनीतिक कार्यकर्ताओं की हत्याएं करते हैं। अमेरिका में अल-फय्यद की पूरी संपत्ति और हितों पर रोक लगा दी गई है और अमेरिकी व्यक्तियों को उनके साथ लेनदेन करने से प्रतिबंधित किया गया है।

बता दें कि शुक्रवार को इन प्रतिबंधों की घोषणा से एक दिन पहले ही इराकी अदालत ने जनवरी 2020 में पीएमएफ के पूर्व कमांडर अबू महदी अल-मुहांडिस के उप प्रमुख की हत्या को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। 3 जनवरी, 2020 को बगदाद अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास हुए एक अमेरिकी ड्रोन हमले में अल-मुहांडिस और आईआरजीसी-क्यूएफ के कमांडर कासिम सुलेमानी मारे गए थे। तेहरान के अटॉर्नी जनरल अली अलकासी मेहर ने दावा किया कि ट्रंप का कार्यकाल खत्म होने के बाद उन पर मुकदमा चलाया जाएगा।

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned