चीनी लैब में कोरोना के पैदा होने के आरोपों पर WHO ने अमरीका से मांगा सबूत, कहा- साझा करें साक्ष्य

HIGHLIGHTS

  • WHO ने अमरीका (America) के आरोपों को मनगढ़ंत कहानी बताया
  • अमरीका के पास यदि कोई सबूत हैं तो हमारे साथ साझा करें: WHO
  • अमरीका के पास कोई सबूत नहीं है कि कोरोना वायरस ( Coronavirus ) वुहान के लैब में पैदा हुआ है: WHO

By: Anil Kumar

Updated: 06 May 2020, 07:59 PM IST

वाशिंगटन। कोरोना वायरस ( Coronavirus ) के खतरे से पूरा दुनिया जूझ रही है और अब तक 2.5 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि 35 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं। इस वायरस का खतरा लगातार बढता ही जा रहा है।

कोरोना वायरस से सबसे अधिक अमरीका प्रभावित हुआ है। इससे परेशान अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( American President Donald Trump ) ने कई बार चीन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। अब ट्रंप के आरोपों पर विश्व स्वास्थ्य संगठन और अमरीका के बीच तकरार बढ़ गया है।

अमरीका और खाड़ी देशों के बाद यूरोपीय देशों की मदद को तैयार भारत, भेजेगा पैरासिटामोल की सामग्री

विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO ) ने ट्रंप के उस दावे पर सवाल खड़े किए हैं, जिसमें ट्रंप ने कहा था कि कोरोना वायरस चीन के वुहान के एक लैब में पैदा हुआ था। WHO ने कहा है कि अमरीका के पास कोई सबूत नहीं है। अमरीका ने वायरस के वुहान लैब में विकसित होने का कोई ठोस साक्ष्य या आधार नहीं दिया है।

अमरीका का आरोप एक मनगढ़ंत कहानी है: माइकल रेयान

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आपातकालीन चीफ डॉक्टर माइकल रेयान ने कहा कि हमारे हिसाब से अमरीका की ओर से लगाए गए आरोप एक मनगढ़ंत कहानी है। WHO एक साक्ष्य आधारित संगठन है, इसलिए हम बेहद इच्छुक हैं कि आरोपों के समर्थन में अमरीका वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी साझा करे। जेनेवा में बोलते हुए उन्होंने आगे कहा, 'यदि अमरीकी सरकार के पास इस बात के सबूत हैं कि यह वायरस चीन की वुहान लैब में पैदा हुआ है तो वो तय कर ले कि उसे कब, कहां और कैसे यह डाटा साझा करनी है।'

डॉ. रेयान ने आगे कहा कि अभी तक कोरोना वायरस की प्रकृति को लेकर WHO को जो भी जानकारी प्राप्त हुई है उसके आधार पर ये कहा जा सकता है कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति प्राकृतिक तौर पर हुई है। वुहान लैब से वायरस आने का आरोप लगाने वालों ने अभी तक WHO को इस बात के सबूत नहीं दिए हैं।

अमरीका ने चीन पर लगाया था आरोप

आपको बता दें कि रविवार को अमरीकी विदेशमंत्री माइक पोम्पियो ने एक साक्षात्कार में यह आरोप लगाया था कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति वुहान के किसी एक लैब में हुई है और वहीं से पूरे विश्व में फैला है। हालांकि पोम्पियो ने मीडिया के सामने कोई सबूत नहीं रखे।

Coronavirus: ट्रंप की लापरवाही पर विपक्ष हमलावर, फैक्ट्री के दौरे पर बिना मास्क के दिखाई दिए

इससे पहले अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कई बार इस तरह के आरोप लगा चुके हैं। ट्रंप ने कहा था कि चीन ने कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारी दुनिया से छुपाई है और WHO ने भी चीन का साथ देकर गुमराह किया है। इसके अलावा ट्रंप ने यह भी कहा था कि उन्होंने चीनी लैब से वायरस फैलने को लेकर सबूत देखा है, लेकिन वे इसे शेयर नहीं कर सकते।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned