बाइक सवार बदमाशों ने अधिवक्ता को मारी गोली, मौत

अमेठी में एक अधिवक्ता की गोली मारकर हत्या का मामला सामने आया है। शहर में लगातार हो रही क्राइम से लोग दहशत में हैं।

By: shatrughan gupta

Published: 18 Aug 2017, 02:47 PM IST

अमेठी. उत्तर प्रदेश में अपराध का ग्राफ कम कम होता नहीं दिख रहा है। अमेठी में भी लगातातर हत्या, लूट जैसी वारदातें हो रही हैं। आए दिन हो रहीं वारदातें पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर रही हैं। अभी कुछ दिन पहले ही जहां एक पूर्व प्रधान की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई थी, वहीं अब एक अधिवक्ता की गोली मारकर हत्या का मामला सामने आया है। शहर में लगातार हो रही क्राइम से लोग दहशत में हैं। बेखौफ बदमाशों के सामने ऐसा लग रहा है कि पुलिस नतमस्तक हो चुकी है।

घटना के बाद क्षेत्र में दहशत
अमेठी मे अपरहण और हत्या इस समय अपराधियों की दिनचर्या हो गई है। ताजा मामला अमेठी जिले के मुंशीगंज थानाक्षेत्र के अंतर्गत भगनपुर गांव का है, जहां पिता की तेरहवीं में भोजन के लिए गाव के लोगों को बुलाने जा रहे एक अधिवक्ता की देर रात बाइक सवार कुछ बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। मामले में गांव के ही दो लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराइ गई है। बताया जाता है कि मृतक विनय कुमार मिश्र उर्फ कोतवाल के पिता आत्माराम मिश्र की बुधवार को तेरहवीं थी। देर रात गांव के लोगों को भोजन करने के लिए विनय बाइक से आमंत्रण देने गया था। विनय गाव के बाहर जैसे ही पहुंचा, वहां पहले से घात लगाए बैठे बाइक सवार बदमाशों ने उस पर गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। गोलियों की आवाज सुन गांव में दहशत फैल गया। लोग मौके पर पहुंचते तो विनय के शरीर से खून बह रहा था और वह तड़प रहा था। ग्रामीणों ने तुरंत विनय को मुंशीगंज स्थित संजय गांधी अस्पताल ले गए और घटना की सूचना पुलिस को दी। संजय गांधी अस्पताल के डॉक्टरों ने विनय की हालत नाजुक देखते हुए उसे ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया।

कुछ हफ्ते पहले ही जेल से छूटकर आया था विनय
हालांकि, लखनऊ ले जाते समय रास्ते में ही विनय की मौत हो गई। एएसपी बीसी दुबे, सीओ रवींद्र सिंह, प्रभारी निरीक्षक रामराज सरोज घटना स्थल पर पहुंचे और आसपास के लोगों से घटना की जानकारी ली। पुलिस इस मालमे में कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि मृतक के भाई पंकज मिश्र की तहरीर पर गाव के वीरेंद्र मिश्र और राम आसरे पांडेय के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है। वहीं, ऐहतियातन गांव में बड़ी संख्या में पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। मृतक के परिजनों के मुताबिक विनय का गांव के ही वीरेंद्र से विवाद चल रहा था। इसी विवाद को लेकर कई बार दोनों पक्षों में मारपीट हो चुकी थी। वीरेंद्र पक्ष की गाव के राम आसरे पांडेय ने मदद की तो विनय और राम आसरे के बीच भी तनातनी हो गई। विनय के परिजनों ने बताया कि अभी कुछ दिन पहले ही इसी रंजिश में विनय ने रामआसरे पर हमला किया था। इसमें पुलिस ने विनय को जेल भी भेजा था। पखवारेभर पहले ही विनय जेल से छूट कर घर आया था। इसी बीच पिता की मौत हो गई। तीन भाइयों में विनय सबसे छोटा था। अभी उसका विवाह नहीं हुआ था।

Show More
shatrughan gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned