मना करने पर वो नहीं माना, गुस्से में चलाईं गोलियां

सिर्फ इतनी सी बात थी कि एक युवक घर के सामने से तेज स्पीड से बाइक लेकर निकला।

By: Mahendra Pratap

Published: 11 Jan 2021, 06:51 PM IST

Amethi, Amethi, Uttar Pradesh, India

अमेठी. सिर्फ इतनी सी बात थी कि एक युवक घर के सामने से तेज स्पीड से बाइक लेकर निकला। मना करने पर भी वो नहीं माना। पर उसे यह बात बेहद नागवार गुजरी और वह तमतमाया हुआ अपने घर पहुंचा। असलहे और लाठियों से लैस होकर टोकने वाले व्यक्ति के दरवाजे पहुंचा। लाठियां और गोलियां बरसा दी। भाई ने बीच बचाव किया पर उसे भी चोट आई और सीएचसी में इलाज चल रहा है। फिलहाल गांव में कई थानों की फोर्स लगा दी गई है।

दरअसल ये पूरा मामला मुसाफिरखाना कोतवाली के अढ़नपुर गांव का है। मिली जानकारी के अनुसार गांव निवासी सुरेंद्र पाण्डेय (45 वर्ष) रविवार दोपहर घर के दरवाजे पर बैठे थे। उसी समय पड़ोस का एक युवक स्पीड में बाइक दौड़ाता हुआ दरवाजे के सामने से गुजरा। कोई अनहोनी न हो जाए इसके मद्देनजर सुरेंद्र ने बाइक सवार युवक को रोककर धीमे गाड़ी चलाने को कहा। जिस पर युवक उलझ गया और थोड़ा गहमागहमी हो गई। आरोप है कि युवक वहां से सीधे अपने घर पहुंचा और कुछ समय बाद लाठी-डंडा और असलहा लेकर परिवार के सदस्यों के साथ सुरेंद्र के घर पर पहुंचा और लाठियां व गोलियां बरसा दी।

चैन नही आया और जान ले लिया :- मृतक के भतीजे धीरेंद्र पाण्डेय ने बताया कि पड़ोस के रघ्घू का बेटा पहले चाचा से उलझा फिर घरवालों को लेकर आया और गोली मार दी। और उनकी मौत हो गई। धीरेंद्र ने बताया कि आरोपियों ने पूर्व में हमारी जमीन कब्जा करके उस पर चार कमरे बना रखे हैं। इसके बाद भी उन्हे चैन नही आया और जान ले लिया।

दो गोलियां लगी थीं:- मुसाफिरखाना सीएचसी के चिकित्सक केके वर्मा ने बताया कि सुरेंद्र को दो गोलियां लगी थीं एक उसकी बाई तरफ और दूसरे उसके पैर में वो मृत अवस्था में यहां लाया गया था। उन्होंने ये भी बताया कि मृतक के भाई सतेंद्र पाण्डेय हैं उनको भी घायल अवस्था में लाया गया है। उनके सिर में चोट आई है, जिनका इलाज किया जा रहा है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned