कैप्टन सतीश शर्मा का निधन, अमेठी में कांग्रेसियों में शोक की लहर, प्रियंका गांधी दुखी

- पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के बेहद करीबी
- कांग्रेस कार्यालय गौरीगंज में शोकसभा आहूत की गई

By: Mahendra Pratap

Published: 18 Feb 2021, 10:31 AM IST

अमेठी. पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कैप्टन सतीश शर्मा का बुधवार को गोवा में निधन हो गया। 73 साल के सतीश शर्मा अमेठी और रायबरेली से सांसद रह चुके थे। वर्ष 1993 से वर्ष 1996 में वो केंद्र में पेट्रोलियम मंत्री थे। उन्हें पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का बेहद करीबी माना जाता रहा है। कांग्रेस महासचिव व यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने कैप्टन सतीश शर्मा के निधन पर शोक व्यक्त हुए उनको याद किया।

भाजपा का कांग्रेसमुक्त भारत का सपना पूरा न हो पाएगा : पंखुड़ी पाठक

कैप्टन सतीश शर्मा के निधन के बाद अमेठी में शोक की लहर दौड़ गई है। अमेठी कांग्रेस के जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंघल ने कहा कि कैप्टन शर्मा जो न सिर्फ पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के सारथी बनकर अमेठी आये थे वरन अमेठी को औद्योगिक हब बनाने का श्रेय भी अपने साथ लेकर चिरशान्ति में लीन हो गए। जिलाध्यक्ष ने बताया कि गुरुवार को जिले में होने वाले समस्त कार्यक्रम रद्द किये जाते हैं। कांग्रेस कार्यालय गौरीगंज में कल सुबह दस बजे शोकसभा आहूत की गई है।

कैप्टन सतीश शर्मा कौन थे :- कैप्टन शर्मा ने वर्ष 2019 के चुनाव में अमेठी का आखिरी दौरा किया था। कैप्टन सतीश शर्मा का जन्म 11 अक्टूबर 1947 को सिकंदराबाद, तेलंगाना में हुआ था। उनकी पढ़ाई देहरादून के कर्नल ब्राउन कैंब्रिज स्कूल में हुई थी। इसके बाद उन्होंने पायलट के तौर पर ट्रेनिंग हासिल की थी। कांग्रेस ने वर्ष 1991 में राजीव गांधी की हत्या के बाद सतीश शर्मा को अमेठी से लोकसभा चुनाव का टिकट दिया था। सतीश शर्मा इस चुनाव में जीते थे। इसके बाद वर्ष 1993 से वर्ष 1996 के बीच वह पेट्रोलियम और नेचुरल गैस मिनिस्टर भी रहे।

Show More
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned