चुनाव जीतने के लिए बच्चों से ये क्या करवा रहे नेता जी! देखें वीडियो

अमेठी नगर पंचायत में हैरान करने वाला मामला सामने आया है।

By: Hariom Dwivedi

Published: 12 Nov 2017, 02:35 PM IST

सतीश बरनवाल
अमेठी. सूबे के वीवीआईपी गढ़ अमेठी में हर चुनाव की तरह निकाय चुनाव में भी सियासत पारा चढ़ा हुआ है। सपा-बसपा-कांग्रेस और भाजपा के साथ निर्दलीय कैंडिडेट जीतने के लिए हर जतन कर रहे हैं। लेकिन इस बार अमेठी नगर पंचायत में हैरान करने वाला मामला सामने आया है।

अमेठी में नाबालिग बच्चों को स्कूली पढ़ाई की जगह सियासत का ककहरा सिखाया जा रहा है। उनके हाथ में किताबों की जगह बैनर-पोस्टर हैं। यहां चंद सिक्कों के बदले राजनैतिक धुरंधर बच्चों को अपने बैलेट पेपर अपने चुनाव चिन्ह देकर खुलेआम उनसे डोर टू डोर प्रचार करवा रहे हैं। जिस उम्र में बच्चो को स्कूली शिक्षा ग्रहण करनी चाहिए, उन्हें राजनीति सिखाई जा रही है।

चंद सिक्कों की खातिर गलियों की खाक छानते हैं मासूम
अमेठी नगर पंचायत में ये बच्चे बिना रुके बिना थके प्रत्याशियों से मिले चन्द सिक्कों के बल पर अपनी पढ़ाई-लिखाई छोड़कर डोर टू डोर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। इनके हाथ में प्रत्याशियों के चुनाव चिन्ह, पोस्टर और बैलेट पेपर हैं। बच्चे लोगों को प्रत्याशियों का चुनाव चिन्ह और बैलेट पेपर देकर उनसे वोट की अपील कर रहे हैं।

सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त तक वोट मांगते हैं बच्चे
यह मामला एक दिन का नहीं, बल्कि सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त तक चलता रहता है। आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने का दावा करने वाला प्रशासन भी आंखें मूंदे बैठा है।

लइक भइया का प्रचार कर रहे थे नाबालिग
पत्रिका संवाददाता ने चुनाव प्रचार को लेकर आधा दर्जन बच्चों से बातचीत की, जो प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह लेकर प्रचार में जुटे थे। जब उनसे पूछा गया कि आप लोग किसका प्रचार कर रहे हो, बच्चों ने कहा कि लईक भाई का। लईक हवारी नगर पंचायत अमेठी से अध्यक्ष पद के लिए निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं। लईक हवारी पिछले नगर पंचायत चुनाव में सपा प्रत्याशी थे और दूसरे पायदान पर रहे थे। लईक के चुनाव में तत्कालीन कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रजापति ने भी चुनाव प्रचार किया था, फिर भी लईक निर्दलीय प्रत्याशी चंद्रमा देवी से हार गए थे।

बोले बीजेपी प्रत्याशी नहीं करवाया जा रहा प्रचार
इस मामले मे जब बीजेपी समर्थित ऊम्मीदवार चन्द्रमा देवी से बात कि गई तो उन्होंने बताया कि हमारे प्रचार-प्रसार में बच्चों को नहीं, बल्कि लोगों को लगाया गया है। कोई भी नाबालिग बच्चा उनका प्रचार-प्रसार नहीं कर रहा है। इस मामले में उनका साफ कहना है कि जो मतदाता और बालिग नहीं हैं, भाजपा उनसे प्रचार नहीं करवाएगी।

एसडीएम बोले- होगी कड़ी कार्यवाही
इस मामले में जब अमेठी उपजिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार मिश्र से बात कि गई तो उन्होंने बताया कि मामले कि जांच कर ऐसा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

देखें वीडियो-

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned