स्मृति ईरानी का अमेठी को तोहफा, जिले वालों को मिलेंगी ये हाईटेक सुविधाएं

स्मृति ईरानी का अमेठी को तोहफा, जिले वालों को मिलेंगी ये हाईटेक सुविधाएं

Karishma Lalwani | Publish: Jun, 03 2019 07:32:40 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

स्मृति ईरानी की पहल पर दिल्ली से पहुंची उच्चस्तरीय टीम ने डीएम राममनोहर मिश्रा के साथ अमेठी में सुविधाएं दिए जाने पर चर्चा की

अमेठी. सांसद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की पहल पर उच्चस्तरीय टीम ने जिलाधिकारी डॉ. राममनोहर मिश्रा के साथ कैंप कार्यालय में स्वच्छ पेयजल, सिंचाई हेतु पानी, जलभराव, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार आदि सभी मूलभूत सुविधाओं के बारे में चर्चा की। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के प्रतिनिधि विजय गुप्ता ने डीएम से जनपद के सूखे तालाबों की सूची उपलब्ध कराने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि जहां पेयजल की समस्या है, वहां पर जल निगम के माध्यम से सोलर पंप लगाकर पेयजल की समस्या दूर की जाए। जलभराव वाले स्थानों को चिन्हित कर वहां से निकलने वाली ड्रेनो की सफाई कर जलभराव वाले पानी को तालाबों में गिराया जाए जिससे बारिश का पानी बर्बाद न हो।

विभिन्न समस्या के लिए दिया ये निर्देश

विजय गुप्ता ने किसानों की सिंचाई की समस्या को देखते हुए बंद पड़ी माइनरों/नहरों की सूची उपलब्ध करवाने के साथ ही उनकी सील्ड सफाई कर पानी टेल तक पहुंचाने को कहा। दिल्ली से आई टीम ने जनपद के विकास और सौंदर्यीकरण को लेकर जिलाधिकारी से चारों नगर निकायों में गार्डन व एक-एक लाइब्रेरी के लिए भूमि उपलब्ध करवाने को कहा। मुख्यालय पर एक हजार सीट वाले ऑडिटोरियम के निर्माण पर चर्चा की गई। एक सीएचसी/पीएचसी को मॉडल बनाने, 10 ओपन जिम के लिए जगह चिन्हित करने, जनपद के युवा सेना में भर्ती हों इसके लिए आर्मी भर्ती रैली का आयोजन करने, प्राइवेट स्कूलों में 25% गरीब बच्चों के निशुल्क प्रवेश, केंद्रीय विद्यालय की शुरुआत करने, मुक्तिधाम बनाने तथा उसमें टीनशेड, पेड़ व पानी की व्यवस्था करने संबंधी कई विषयों पर चर्चा की गई। जिलाधिकारी ने टीम को आश्वस्त किया कि शासन की मंशा के अनुरूप सभी कार्य शीघ्र प्रारंभ किए जाएंगे।

ये रहे मौजूद

बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी प्रभुनाथ, प्रभागीय वनाधिकारी यू0पी0 सिंह, उप जिलाधिकारी तिलोई, तहसीलदार मुसाफिरखाना घनश्याम भारती, जिलाध्यक्ष भाजपा दुर्गेश त्रिपाठी, विजय गुप्ता, ओपी चौधरी सहित उनके सहयोगी उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें: मजदूरी का पैसा न मिलने पर परिवार पहुंचा भुखमरी की कगार पर

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned