सेना के जवान की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, पत्नी ने जताई हत्या की आशंका

- पत्नी ने बताया दिन में 11:30 बजे हुई थी आखरी बार बात, खुश थे वो.

By: Abhishek Gupta

Published: 11 Apr 2021, 07:46 PM IST

अमेठी. छत्तीसगढ़ के कानत्ये में अमेठी निवासी जवान की रविवार को गोली लगने से मौत हो गई। जवान का पार्थिव शरीर लेकर सेना के अधिकारी युवक के पैतृक गांव कुटमरा पहुंचे। जवान के निधन की सूचना क्षेत्र में फैलते ही हजारों की संख्या में लोग कुटमरा गांव पहुंचने लगे। मोहनगंज थाना क्षेत्र के कुटमरा गांव का जवान प्रदीप शुक्ला सेना में तैनात था, वो छत्तीसगढ़ के कानत्ये में ड्यूटी कर रहा था। सेना के अधिकारियों की माने तो जवान ने अपनी खुद की राइफल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। आज जवान का पार्थिव शरीर जब कुटमरा गांव पहुंचा तो उसके अंतिम दर्शन के लिए लोगों का तांता लग गया।

परिजनों को समझाने पहुंचे योगी के मंत्री-
सेना के अधिकारियों ने मृत जवान का अंतिम संस्कार कराने की कोशिश की, लेकिन परिजन अंतिम संस्कार करने को राजी नहीं हो रहे हैं। पत्नी का कहना है कि जब तक मेरे पति को शहीद का दर्जा नहीं दिया जाएगा तब तक अंतिम संस्कार हम नहीं करेंगे। इस बात की सूचना जैसे ही अमेठी प्रशासन को मिली तो वहां आनन-फानन में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी और राज्यमंत्री सुरेश पासी भी मौके पर पहुंचे और परिजनों को समझाने की कोशिश की। अब देखना होगा कि सेना के जवान के परिवार के कहने के अनुसार शहीद का दर्जा मंत्री दिला पाते हैं कि नहीं।

पत्नी ने लगाया हत्या का आरोप-

वहीं मृत जवान की पत्नी ने मीडिया को बताया दिन में 11:30 बजे वीडियो कॉलिंग के जरिए उनसे बात हुई थी। उसके पति को किसी भी तरह की कोई दिक्कत नहीं थी। उन्होंने हंसी खुशी से बच्चों से भी बात किया था। शाम 4 बजे मुझे फोन कर उनके मौत हो जाने की सूचना दी गई। मृत जवान की पत्नी ने कहा कि जो एक कांटा नहीं लगा सकता वह खुद को गोली कैसे मार सकता है। पत्नी ने सेना के अधिकारियों पर सीधा आरोप लगाते हुए कहा कि मेरा पति आत्महत्या नहीं कर सकता है। मेरे पति की हत्या की गई है।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned