वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट: बिस्किट उत्पादन के लिए हुआ अमेठी का चयन, हजारों लोगों को मिलेगा रोजगार

Nitin Srivastava

Publish: Jan, 14 2018 09:35:53 AM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India

अमेठी. प्रदेश सरकार और स्मृति ईरानी के प्रयास से वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोजेक्ट के तहत अमेठी जिले का चयन बिस्किट उत्पादन के लिए किया गया है। अगर इस दिशा में ठोस काम हुए तो न सिर्फ औद्योगिक विकास दर मजबूत होगी बल्कि जिले के हजारों लोगों को रोजगार भी मिल सकेगा।

 

जिले में चल रही कई इकाइयां

बिस्किट उत्पादन में देश में अमेठी को अग्रणी बनाने के लिए मौजूदा समय में जिले में बिस्किट की दो बड़ी इकाइयों के साथ दर्जन भर से ज्यादा छोटी इकाइयां मौजूद हैं और इसमें करीब एक हजार लोगों को रोजगार मिल सका है। बिस्किट क्षेत्र में ब्रांडिंग के पहलुओं पर गौर करें तो जिले के जगदीशपुर इंडस्ट्रियल एरिया में पहले से ही फारगो फूड प्राइवेट लिमिटेड और मेसर्स आईवीएस फूड प्राइवेट लिमिटेड नाम से दो बड़ी कंपनियां चल रही हैं। इन दोनों इकाइयों में तैयार बिस्कुट फारगो फूड प्राइवेट लिमिटेड का प्रिया गोल्ड बिस्किट जो देश के लगभग सभी राज्यों में मिलता है। इसके अलावा बेकरी की करीब 15 इकाइयां जिनमें बिस्किट के अलावा चिप्स, पापड़ और नमकीन आदि बनाए जाते हैं।
सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना में चयनित होने के बाद न सिर्फ अमेठी जिला बिस्किट उत्पादन के लिए देश भर में जाना जाएगा, बल्कि जिले के हजारों बेरोजगारों को रोजगार भी मिल सकेगा।

 

स्मृति ईरानी और केन्द्र सरकार का दिखावा

वही कांग्रेस के जिलाध्यक्ष की मानें तो ये सिर्फ स्मृति ईरानी और केन्द्र सरकार का दिखावा है क्योंकि स्मृति ईरानी ने सिर्फ और सिर्फ बदले की भावना से अमेठी में तमाम उद्योगों को बन्द करवाया है। तो इससे कोई विशेष फर्क नहीं पड़ने वाला है। अमेठी में रोजगार की दृष्टि से बेरोजगारों को कोई रोजगार मिलने वाला है।

 

बिस्किट की वजह से जाना जाएगा अमेठी

वहीं प्रदेश सरकार की इस योजना पर भाजपा जिलाध्यक्ष उमाशंकर पाण्डेय का कहना है स्मृति जी के इस कदम से अमेठी अब गांधी- नेहरु परिवार नहीं बल्कि बिस्किट हब के नाम से प्रसिद्ध होगा और इससे यहां के बेरोजगारों को रोजगार भी मिलेगा।

Ad Block is Banned