उगते सूर्य को अर्घ्य देकर पलटी थी मां, खून में लथपथ शव को देख निकल पड़ी चीख़

6 वर्षीय बेटा पिता के साथ स्कूल गया था, जहां वो रास्ते में काल के गाल में समा गया।

अमेठी. मां ने उगते सूर्य को अर्घ्य देकर छठ व्रत का समापन करते हुए परिवार की कुशल क्षेम की प्रार्थना की थी की कुछ ही देर में इकलौते बेटे की मौत की ख़बर नें उसे जीते जी मार डाला। 6 वर्षीय बेटा पिता के साथ स्कूल गया था, जहां वो रास्ते में काल के गाल में समा गया। पुलिस नें शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज मामले की छानबीन शुरू कर दिया है।

अमेठी कोतवाली का मामला

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार अमेठी कोतवाली के भरतीपुर गांव निवासी विमलेश कुमार पाण्डेय इलाके के विद्या मंदिर स्कूल में पढ़ाते हैं। उनका 6 वर्षीय इकलौता बेटा कृष्णा पाण्डेय भी उनके साथ उसी स्कूल में पढ़ता था। रोज की तरह वो पिता के साथ बाइक पर बैठ कर बाबूगंज स्थित स्कूल जा ही रहा था कि एक ट्रक नें बाइक में टक्कर मार दिया। टक्कर से कृष्णा से गिरा और ट्रक के चक्कों के नीचे आ गया, उसका सिर वहीं बिखर गया। हादसे में पिता को भी चोटें आई।

सीएचसी में बेटे की खून में लथपथ लाश देख निकल पड़ी मां की चीख़

आसपास के लोग जब तक पास पहुंचते तब तक ट्रक ड्राइवर ट्रक को मौके पर छोड़ फरार हो गया। उधर गम्भीर चोट आनें के कारण कृष्णा ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। लोगों नें घटना की सूचना पुलिस को दिया, सूचना पर पहुंची पुलिस नें लाश को कब्जे में लेकर सीएचसी अमेठी पहुंचाया। जहां ख़बर पाकर मां और परिवार के अन्य सदस्य भी पहुंच गए। बेटे की लाश को खून में लथपथ देख मां की चीख़ निकल पड़ी, और परिवार वालों में कोहराम मच गया।

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned