प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अमेठी दौरे को इस कांग्रेस नेता ने बताया पहला और आखिरी दौरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अमेठी दौरे से पहले राहुल गांधी के प्रतिनिधि चंद्रकांत दुबे ने उनपर कटाक्ष किया

By: Karishma Lalwani

Updated: 02 Mar 2019, 07:04 PM IST

अमेठी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 3 मार्च को अमेठी पहुंच रहे हैं। इस मामले में राहुल गांधी के प्रतिनिधि चंद्रकांत दुबे ने कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह के साथ एक संयुक्त प्रेसवार्ता करते हुए प्रधानमंत्री पर शब्द बाण छोड़े हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री के इस दौरे को उनका पहला और आखिरी दौरा बताया है।

चंद्रकांत दुबे ने कहा कि इस दौरे का सभा स्थल भी परिवर्तित हो रहा है। पहले यह सभा स्थल एच.ए.एल. कोरवा के निकट आयुध निर्माणी में एक कार्यक्रम के उपरान्त सभा आयोजित करने का था। यह आयुध निर्माणी के कर्मचारियों के विरोध और एच.ए.एल. के वैज्ञानिकों और इंजीनियरों के सम्भावित विरोध के चलते रामगंज कौहार में सभा के रुप में परिवर्तित हुआ है। वर्ष 1999 में कौहार के इसी मैदान में स्व. अटल बिहारी वाजपेई की एक आमसभा आंधी तूफान में बाधित हो गई थी।

दुबे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का अमेठी दौरा 5 मई, 2014 में भारतीय जनता पार्टी के नेता के रुप में चुनाव के दौरान हुआ था। इस दौरान उन्होंने कहा था कि ‘‘मैंने अमेठी को 60 महीने में पूरी तरह बदलने का फैसला किया है। दूसरे विश्वविद्यालयों के लोग यहां अध्ययन के लिए आएंगे और ‘‘मैं यहां आपके सपनों को अपना बनाने और आपके दर्द को लेने आया हूं'' कहेंगे।

कालाधन भाषण का हिस्सा नहीं

चंद्रकांत दुबे ने प्रधानमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि आतंकवाद और सीमा पर तनाव के चलते सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक भी उनके भाषण के हिस्से हो सकते हैं। लेकिन गुजरात मॉडल, कालाधन, दो करोड़ रोजगार, पीने का पानी, नोटबंदी, राफेल सौदा, विजय माल्या, ललित मोदी, मेहुल चौकसी, पी.एन.बी. बैंक घोटाला निश्चित ही भाषण का हिस्सा नही रहेंगे। मेगा फूड पार्क, हिन्दुस्तान पेपर मिल, ट्रिपल आई.टी. तो बिल्कुल गायब होंगे। 70 साल में कांग्रेस की नाकामी, जवाहरलाल नेहरु द्वारा विकास को रोका जाना, नामदार-कामदार जैसे शब्दों का बार-बार प्रयोग सुनने को मिलेगा।

कांग्रेस सेना और सरकार के साथ है

चंद्रकांत दुबे ने कहा कि अमेठी के नागरिकों को विदेश नीति, इजराइल, अमेरिका, फ्रांस में प्रधानमंत्री मोदी के स्वागत के किस्से भाषण के प्रमुख हिस्से होंगे। भाषण का प्रारम्भ और अंत नारों से होगा। नीबोंली, क्रिकेट, महाकुम्भ, बीज वितरण के लिए ‘‘उत्थान सेवा संस्थान’’ नामक एन.जी.ओ. का जिक्र होगा। कार्यक्रम पार्टी का है या सरकार का यह समझ पाना भ्रम जैसा ही होगा। प्रधानमंत्री के रुप में नरेंद्र मोदी का यह पहला और संभवतः आखिरी दौरा है। कुछ अप्रासंगिक नेताओं का भाजपा में शामिल होना भी दौरे का मुख्य बिन्दु होगा। उन्होंने ये भी कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश और आस-पास के सभी जिलों को भीड़ लाने का लक्ष्य दिया गया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आतंकवाद से लड़ने के लिए कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से सेना और सरकार के साथ है। लेकिन रोजगार, अर्थव्यवस्था, किसानों की बदहाली और भ्रष्टाचार आदि विषयों पर सरकार से प्रश्न पूछे जाते रहेंगे।

BJP Congress
Show More
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned