scriptMauni Maharaj Closed Anshan Getting Assurance Of Arrest of Criminals | पुलिस से महिला सेवादार के हत्यारों की गिरफ्तारी का आश्वासन मिलने पर मौनी महाराज ने खत्म किया अनशन | Patrika News

पुलिस से महिला सेवादार के हत्यारों की गिरफ्तारी का आश्वासन मिलने पर मौनी महाराज ने खत्म किया अनशन

हत्यारोपियों की गिरफ्तारी को लेकर मौनी महाराज अनशन पर बैठ गए। उन्होंने कहा कि जब तक अपराधी पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ जाते तब तक मंदिर के कपाट बंद रहेंगे। पूजा-अर्चना, यज्ञ नहीं किए जाएंगे और आश्रम का कोई भी संत जल नहीं ग्रहण करेगा।

अमेठी

Updated: November 30, 2021 05:41:44 pm

अमेठी. उत्तर प्रदेश के अमेठी में सोमवार को बाबूगंज स्थित मौनी महाराज के सगरा आश्रम से 500 मीटर दूरी पर उनकी रसोइया की हत्या कर दी गई। शव का पोस्टमार्टम होने के बाद सेवादार महिला का शव आश्रम में रखा गया। मंगलवार को उनका अंतिम संस्कार किया गया। उधर, हत्यारोपियों की गिरफ्तारी को लेकर मौनी महाराज अनशन पर बैठ गए। उन्होंने कहा कि जब तक अपराधी पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ जाते तब तक मंदिर के कपाट बंद रहेंगे। पूजा-अर्चना, यज्ञ नहीं किए जाएंगे और आश्रम का कोई भी संत जल नहीं ग्रहण करेगा। हालांकि, पुलिस से गिरफ्तारी का आश्वासन मिलने के बाद उन्होंने अनशन खत्म कर दिया। मौनी महाराज ने आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ ही आश्रम की सुरक्षा बढ़ाने की भी मांग रखी है।
Mauni Maharaj Closed Anshan Getting Assurance Of Arrest of Criminals
Mauni Maharaj Closed Anshan Getting Assurance Of Arrest of Criminals
आश्रम से 500 मीटर दूर मिला था शव

बता दें कि गौरीगंज कोतवाली अंतर्गत साधना बाबूगंज क्षेत्र में सोमवार सुबह भास्कर द्विवेदी निवासी पूरे पंडित बाजगंज कोतवाली गौरीगंज की पत्नी मीरा द्विवेदी की हत्या कर दी गई थी। आश्रम से 500 मीटर दूर सड़क किनारे रसोइया का शव मिला था जिसके सिर पर धारदार हथियार के निशान पाए गए थे।
जमीन विवाद का मामला

मौनी महाराज ने कहा था कि भास्कर द्विवेदी की पत्नी मीरा द्विवेदी के ससुर का पूर्व में अपहरण कर लगभग पांच बीघा जमीन पंडित का पुरवा ऐन्धी निवासी उमाशंकर मिश्रा उर्फ बबलू ने जबरदस्ती लिखा ली थी। उस जमीन को वह कई अपराधियों को करोड़ों रुपए में बेचकर उस पर निर्माण करवा रहा था जिसको लेकर काफी दिनों से विवाद चल रहा था। इस मामले में मीरा द्विवेदी लगातार इसका विरोध कर रही थी। कुछ जमीन अभी बची हुई है जिस पर अतिक्रमण बाकी था उसी को लेकर विरोध चल रहा था। परिवार में मौनी महाराज ने कहा कि मीरा एक जिम्मेदार व्यक्ति थी जो उन लोगों को जवाब दिया करती थी। उसकी हत्या का मतलब उनके पूरे परिवार का विनाश और परिवार को समाप्त करना है। उसकी हत्या का उद्देश्य बची हुई जमीन को कब्जा करना है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.