डीएम की अध्यक्षता में पंचायत विकास योजना जीपीडीपी के कार्यशाला का आयोजन

डीएम की अध्यक्षता में पंचायत विकास योजना जीपीडीपी के कार्यशाला का आयोजन

Mahendra Pratap Singh | Publish: Oct, 13 2018 06:05:56 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

प्रत्येक वर्ष ग्राम पंचायतों द्वारा स्वयं के विकास के लिए प्राप्त वित्तीय संसाधनों के सापेक्ष ग्राम पंचायत विकास योजना तैयार किया जाता है

अमेठी. भारत सरकार के 14वें वित्त आयोग की अनुशंसा के फलस्वरूप प्रत्येक वर्ष ग्राम पंचायतों द्वारा स्वयं के विकास के लिए प्राप्त वित्तीय संसाधनों के सापेक्ष ग्राम पंचायत विकास योजना तैयार किया जाता है। इसे भारत सरकार के सॉफ्टवेयर प्लान प्लस पर अपलोड किया जाता है और कार्यों की वित्तीय एवं भौतिक प्रगति को एक्शन सॉफ्ट, प्रिया सॉफ्ट पर अंकित किया जाता है।

बता दें कि अमेठी जनपद में ग्राम पंचायत विकास योजना जीपीडीपी के कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें जिले के समस्त आला अधिकारी एवं विधायक मौजूद रहे। इस कार्यशाला में बताया गया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में जनपद अमेठी के लगभग समस्त ग्राम पंचायतों द्वारा योजना तैयार कर प्लान प्लस अपलोड कर दिया गया है। पर्याप्त संसाधनों एवं जागरूकता के अभाव में उनके द्वारा अपलोड किए जाने वाली कार्य योजनाएं मात्र निर्माण केंद्रित परिलक्षित हो रही हैं।

समाज के हर वर्ग को मिले लाभ

वार्षिक कार्य योजनाओं में अभी भी कम लागत और स्वयं के संसाधनों से कराए जाने वाले कार्यों का समावेश न के बराबर है। ग्राम पंचायत विकास योजना एक समग्र विकास योजना है, जो कि जनभागीदारी से बनाई जानी चाहिए। इसमें विभिन्न विभागों के माध्यम से ग्राम पंचायतों में कराए जाने वाले समस्त कार्यों का उल्लेख होना चाहिए ताकि समाज के हर वर्ग को इसका लाभ मिले और कार्यों में पारदर्शिता आए। पंचायतों द्वारा तैयार की जाने वाली वार्षिक कार्य योजना, जिसे उत्तर प्रदेश में ग्राम पंचायत विकास योजना जीपीडीपी 'हमारी योजना हमारा विकास' का नाम दिया गया है, के अंतर्गत मुख्य था। 14वें एवं चतुर्थ वित्त आयोग की धनराशि से किए जा रहे प्रयासों एवं योजना तैयार किए जाने की प्रक्रिया को मजबूत करने के लिए वर्ष 2016-17 से ग्राम पंचायतों द्वारा वार्षिक कार्य योजना तैयार कर प्लान प्लस पर अपलोड किया जा रहा है। इसमें आईईसी गतिविधियों के माध्यम से जन जागरूकता एवं वातावरण निर्माण पीआरएस एवंअन्य विधियों के द्वारा सामुदायिक सहभागिता से पंचायत की सामाजिक आर्थिक एवं संरचनात्मक विकास का पारिस्थितिकी विश्लेषण करना है।

पंचायत के हर व्यक्ति को मिले योजना का लाभ

ग्राम पंचायतों के रिसोर्स एनवेलप का निर्धारण करते हुए ग्राम सभा की बैठक का आयोजन किए जाने की कार्य योजना तैयार की गई। इसके साथ ही ग्राम पंचायत की पारिस्थिति की रिपोर्ट को समुदाय के समक्ष रखना एवं उनकी आवश्यकताओं का आंकलन करना शामिल है। रिसोर्स एनवेलप के सापेक्ष प्राथमिकताओं का प्राथमिकीकरण करते हुए दीर्घकालिक दृष्टिकोण से वार्षिक कार्य योजना को तैयार किया जाना शामिल किया गया है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य आदर्श ग्राम की स्थापना करना और पंचायत के एक-एक व्यक्ति को योजना निर्माण से जोड़ना है। जनपद स्तर पर ग्राम पंचायतों द्वारा किए गए विशेष प्रयासों नवीन विचारों को सामने लाना इसका प्रमुख उद्देश्य है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned