सरकारी दस्तावेज में जिंदा व्यकित को बताया मरा हुआ, सीएम योगी को पत्र लिखकर लगाई मदद की गुहार

Karishma Lalwani

Updated: 07 Jul 2019, 12:57:28 PM (IST)

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

अमेठी. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) के संस्दीय क्षेत्र अमेठी के जामो गांव में बड़ा मामला सामने आया है। यहां एक जिंदा व्यक्ति को सरकारी दस्तावेजों में मृत घोषित कर दिया गया। यह सब कुछ विरासत पाने के लिए किया गया। पीड़ित व्यक्ति ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) को पत्र लिखकर न्याय की गुहार लगाई है।

दूसरे के नाम कर दी विरासत

जामो गांव के रहने वाले माताफेर जिंदा हैं लेकिन लेखपाल राधिका प्रसाद मिश्र ने इन्हें सरकारी दस्तावेज में मृत बताया है। हैरान करने वाली बात ये है कि गांव में माताफेर की आराजी थी, जिसका खाता संख्या 667 है। 20 अप्रैल, 2018 के एक आदेश पर लेखपाल ने रिपोर्ट लगाते हुए उक्त खाते की जमीन पर विरासत दूसरे के नाम चढ़ा दिया। वहीं दूसरी ओर पीड़ित को प्रधानमंत्री योजना के अंतर्गत मिलने वाली किसान सम्मान निधी की राशि भी नहीं दी जा रही। कई बार तहसील जाकर लेखपाल से इस बारे में बात की गई लेकिन बात अनसुनी कर दी गई। अब माताफेर ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, एसपी अमेठी और डीएम अमेठी को पत्र लिखकर इंसाफ की गुहार लगाई है।

ये भी पढ़ें: भाजपा नेता पर महिला ने लगाया यौन शोषण का आरोप, कहा नौकरी देने के बहाने बनाता रहा संबंध

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned