शैक्षिक संस्थानों को राजनीति का अखाड़ा ना बनाया जाए: स्मृति ईरानी

एक दिवसीय दौरे पर रहीं सांसद स्मृति ईरानी ने कहा कि शैक्षिक संस्थानों को राजनीति का अखाड़ा ना बनाया जाए

By: Karishma Lalwani

Published: 06 Jan 2020, 05:07 PM IST

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

अमेठी. एक दिवसीय दौरे पर रहीं सांसद स्मृति ईरानी ने कहा कि शैक्षिक संस्थानों को राजनीति का अखाड़ा ना बनाया जाए। इससे हमारे जितने भी छात्र हैं उनके जीवन पर असर पड़ता है, उनकी प्रगति पर भी असर पड़ता है। मैं आशावादी हूं के राजनीतिक अखाड़ा और राजनीतिक मोहरे की तरह छात्रों को इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

स्वास्थ्य की व्यवस्थाओं में जब कोई गरीब आता है तो इस अपेक्षा के साथ आता है के भले ही उसके पास पैसे न हों लेकिन उसे सरकारी संस्थान के माध्यम से संरक्षण और सेवा प्राप्त होगी। प्रदेश सरकार की जिम्मेदारी बनती है की इस प्रकार की व्यवस्थाओं में अगर कोई चुनौती आती है तो उसे देखते हुए तत्परता से समाधान दे।

राजस्थान में जब से मामला सामने आया तब से लेकर आजतक अस्पताल के जो मेडिकल आफिसर्स हैं जिनको नेशनल प्रोटेक्शन आफ चाइल्ड से समन किया थाजब चेयरमैन वहां गए थे तब भी वो वहां उपस्थित नहीं रहे। जिम्मेदार लोग अपने दायित्व का निर्वाह किस प्रकार से कर रहे हैं, दायित्व के निर्वाह में क्या चुनौती आ रही है अगर उस पर भी संवाद न करें तो जनता को समाधान देने में निश्चित रुप से चैलेंज और चुनौती आती है। मेरा आग्रह है राजस्थान की सरकार केंद्र की सरकार की ओर से जो पहल हुई है, हर्ष वर्धन जी के नेतृत्व में जो टीम पहुंची और उन्होंने स्वयं कहा के हम मदद करने को तैयार हैं लेकिन संवाद और समाधान राजस्थान की सरकार को करनी चाहिए। उन्होंने सचिन पायलट के बयान पर कहा कि कमी हुई है उसे राजस्थान की सरकार को स्वीकार करना चाहिए।

ये भी पढ़ें: राजनीतिक मोहरे के रूप में न इस्तेमाल किए जाएं छात्र: स्मृति ईरानी

Smriti Irani
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned