महिला के कारनामों से परेशान ग्रामीणों ने एसडीएम को लिखा पत्र, कहां दूसरे शहर बसने को होंगे मजबूर, पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

- एससी एसटी वर्ग की महिला की हरकतों से परेशान गांव वालों ने एसडीएम को लिखा पत्र

- पत्र में लिखा, 'अत्याचार समाप्त कराए, अन्यथा काफी लोग दूसरी जगह बसने को मजबूर होंगे'

- पुलिस पर भी गंभीर आरोप

By: Karishma Lalwani

Published: 11 Nov 2020, 09:58 AM IST

अमेठी. उत्तर प्रदेश के अमेठी में ठेगाह गांव के लोग वहीं की एक महिला से परेशान होकर दूसरे शहर पलायन को मजबूर हो गए हैं। गांव वालों का आरोप है कि एससी एसटी वर्ग की महिला वहां सभी को परेशान करती रहती है। आरोप है कि उसने गांव की ही एक पीड़ित महिला के पुत्र की बाइक तक तोड़ डाली। पुलिस ने आरोपित महिला के विरूद्ध सुसंगत धाराओं में केस दर्ज करने के बजाए पीड़ित महिला का ही शांतिभंग में चालान कर दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने एसडीएम को पत्र देकर लिखा कि 'अत्याचार समाप्त कराए, अन्यथा काफी लोग दूसरी जगह बसने को मजबूर होंगे।'

महिला के कारनामों से परेशान ग्रामीणों ने एसडीएम को लिखा पत्र, कहां दूसरे शहर बसने को होंगे मजबूर, पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

गांव वालों ने लगाया आरोप

पीड़िता कृपाली देवी आरोप है कि गांव निवासनी एक महिला ने गत छह नवंबर को दरवाजे के सामने खड़ी उसके पुत्र की बाइक को तोड़ दिया था। मामला थाने पर पहुंचा तो हल्का सिपाही को थाने से भेजा गया। उसने भी आरोपित महिला का खुलकर साथ दिया और पीड़ित का शांतिभंग में चालान करवा दिया। जिसके बाद ग्रामीण नाराज हो गए। इस संबंध में ग्रामीणों ने एसडीएम अमेठी को हस्ताक्षर युक्त एक लिखित शिकायती पत्र दिया। ग्रामीणों ने लिखा कि सिपाही ने पीड़िता से हस्ताक्षर करवाया लेकिन उसके खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया। आरोपित महिला अब तक गांव के दर्जन लोगों के विरूद्ध एससी एसटी में एफआईआर के लिए तहरीर दे चुकी है।

ये भी पढ़ें: प्रदूषण ने बढ़ाया डिप्रेशन, याददाश्त हो रही कमजोर, भूख भी हो रही प्रभावित

ये भी पढ़ें: महंगा हो जाएगा यूपी में आय, जाति और राशन कार्ड का आवेदन, 65 हजार सीएससी संचालकों की बढ़ेगी आय

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned