बेटी के हत्यारों को सलाखों के पीछे पहुंचाने के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हुई मां, पुलिस पर लगाया ये आरोप

Karishma Lalwani | Updated: 11 Oct 2019, 04:41:55 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में एक विधवा महिला अपनी बेटी को न्याय दिलाने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही है

अमेठी. दहेज को लेकर हमेशा ही आम जनता व कई नेताओं ने आवाज उठाई है। लेकिन आज भी दहेज समाज के कई कोनों में एक बड़ी समस्या है। ये परेशानी देश के विकास में विसंगतियां पैदा करती हैं। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में एक विधवा महिला अपनी बेटी को न्याय दिलाने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही है। उन्होंने जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर अपनी बेटी को न्याय दिलाने की गुहार लगाई। साथ ही सांसद स्मृति ईरानी (Smriti Irani), प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के कार्यालयों में पत्राचार कर कार्रवाई के लिए गुहार लगाई, लेकिन पीड़ित महिला को न्याय न मिल सका।

यह है मामला

पीड़ित महिला ममता मिश्रा की बेटी संजना की शादी 29 अप्रैल, 2018 को मुसाफिरखाना के भागूपुर गांव में हुई थी। उन्होंने अपनी सामर्थ्य के अनुसार वर पक्ष को दान दहेज दिया। लेकिन मन न भरने पर ससुराल पक्ष के लोगों का लालच बढ़ा। दहेज को लेकर संजना को उसके ससुराल वालों ने प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। परेशान होकर संजना अपने मायके वापस चली गई। लेकिन मां के समझाने के बाद वह वापस ससुराल चली गई। इसके बाद 28 अगस्त को संजना की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।

पीड़ित महिला ममता मिश्रा का आरोप है कि उनकी बेटी की हत्या उसके ससुराल वालों ने की है। उसने ससुराल पक्ष से विवाहिता के ससुर संजय मिश्रा, चाचा राजेश मिश्रा, बुआ दर्शना देवी, बहन सावित्री व शीला सहित अज्ञात रूप से चाची के नाम मुसाफिरखाना कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत किया था। अब आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए मां ममता मिश्रा को विभागीय पुलिस अधिकारियों के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। इतना ही नहीं नामजद मुकदमा दर्ज करने के बाद भी पीड़ित महिला ने अपनी बेटी के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए एसपी एएसपी, डीजीपी, प्रमुख सचिव, मुख्यमंत्री, महामहिम राज्यपाल के साथ अमेठी सांसद स्मृति ईरानी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व राष्ट्रपति तक के कार्यालयों में पत्राचार कर कार्रवाई के लिए गुहार लगाई। लेकिन पीड़ित महिला की सुनवाई में अमेठी के पुलिस अधिकारियों को तनिक भी दिलचस्पी नहीं।

ससुराल वालों पर हत्या का आरोप

शुक्रवार को कलेक्ट्रेट पहुंची ममता मिश्रा ने अमेठी पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उनकी बेटी को ससुराल वालों ने मार डाला। बावजूद इसके आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। उन्होंने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। पीड़ित महिला ने कहा कि उनका एक छोटा बच्चा है। उसे लेकर वह कहां-कहां तक न्याय मांगने जाएं। अगर उनकी बात नहीं सुनी गई, तो वे आत्महत्या कर लेंगी और उनकी मौत की जिम्मेदार पुलिस होगी।

दो आरोपी भेजे गए जेल

इस मामले में गौरीगंज मुख्यालय पर मौजूद मुसाफिरखाना क्षेत्राधिकारी सूक्ष्म प्रकाश ने कहा कि दहेज हत्या का मुकदमा पंजीकृत किया गया है। दो आरोपी इसमें जेल भी भेजा जा चुके हैं। साक्ष्य संकलन की कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि पीड़ित महिला को साक्ष्य प्रस्तुत कराए जाने के लिए कहा गया था। महिला की धमकी पर कहा कि उसकी जांच की जाएगी।

ये भी पढ़ें: रोडवेज बस पर सवार होकर लखनऊ पहुंचे कांग्रेस के नए प्रदेश अध्यक्ष, लिया चार्ज

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned