कैप्टन अमरिंदर ने पहाड़ी राज्यों को विशेष सुविधाएं देने पर आपत्ति जताई

पहाड़ी राज्यों को विशेष रियायतें देने संबंधी केंद्र सरकार के फ़ैसले का विरोध करते हुये पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आज कहा कि वह पंजाब

By: शंकर शर्मा

Published: 18 Aug 2017, 10:38 PM IST

चंडीगढ़। पहाड़ी राज्यों को विशेष रियायतें देने संबंधी केंद्र सरकार के फ़ैसले का विरोध करते हुये पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आज कहा कि वह पंजाब के सीमावर्ती क्षेत्रों और कंडी क्षेत्रों को भी ऐसी रियायतें देने की मांग उठायेंगे।


आज यहां पंजाब कला भवन में फोटो जर्नलिस्ट वैलफेयर एसोसिएशन द्वारा लगाई फोटो प्रदर्शनी के उदघाटन के बाद पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब के सरहदी और कंडी क्षेत्रों में भी कई तरह की समस्याएं हैं जिस कारण केंद्र सरकार द्वारा पहाड़ी सूबों को दी रियायतों की तरह यह इलाके भी ऐसीं रियायतों के हकदार हैं।


कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उनकी सरकार ने इससे पहले भी केंद्र सरकार के पास यह मामला उठाया था और अब ओर ज़ोरदार ढंग के साथ यह मामला उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को यह पक्षपाती रवैया बंद करना चाहिए।

पंजाब की शांति भंग करने की किसी को इजाजत नहीं:अमरिंदर
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख राम रहीम संबंधी आने वाले फ़ैसले पर टिप्पणी करते हुए कहा कि किसी को भी सूबे के अमन-चैन में विघ्न डालने की इजाज़त नहीं दी जायेगी।


कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उन्होंने पुलिस विभाग को पंजाब में अमन-शांति को भंग करने की किसी भी कोशिश के प्रति चौकस रहने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सूबे की तरक्की और खुशहाली को यकीनी बनाने के लिए अमन-शांति को हर हाल में कायम रखा जायेगा।


मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा हर हाल में शांति को कायम रखा जाएगा। सीबीआई अदालत का फैसला जोभी हो लेकिन पंजाब का माहौल बिगाडऩे वालों के लिए यहां कोई जगह नहीं है। अमरिंदर ने कहा कि अगर इस तरह की ताकतों द्वारा पंजाब की शांति भंग की जाएगी तो कोई विदेशी निवेशक यहां नहीं आएगा।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned