क्या आपने कभी नेताओं द्वारा आम लोगों के जूते साफ करने की कल्पना की है...

आपने ऐसी तस्वीरें देखी होंगी, जिनमें नेता-मंत्री अपने कारिन्दों से जूते साफ ( Leaders Polished Shoes ) करते या उठवाते नजर आए, किन्तु ऐसी तस्वीरें मुश्किलों से ही देखने को मिलेंगी जिनमें नेतागण आम लोगों के जूते साफ करें।

अमृतसर(धीरज शर्मा): आपने ऐसी तस्वीरें देखी होंगी, जिनमें नेता-मंत्री अपने कारिन्दों से जूते साफ ( Leaders Polished Shoes ) करते या उठवाते नजर आए, किन्तु ऐसी तस्वीरें मुश्किलों से ही देखने को मिलेंगी जिनमें नेतागण आम लोगों के जूते साफ करें। नेताओं को समाज सेवा करते हुए देखने की बात बेशक आसानी से गले नहीं उतरती हो, और सेवा भी ऐसी जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती किन्तु अकाली दल के नेताओं ( Leaders of Akali Dal Polished shoes ) ने ऐसा ही कुछ किया, जिस पर सहज विश्वास करना कठिन है। दरअसल अकाली दल के 99 ( Birth Ceremony of Akali Dal ) साल पूरे होने के उपलक्ष्य में श्रद्धालुओं के जूते साफ करने का आयोजन किया गया।

लंगर हॉल में की सेवा
पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर बादल ने अपनी पत्नी केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल सहित कई अकाली नेताओं के साथ जूते साफ करने की सेवा की। इसी मौके पर श्री अकाल तख्त साहिब परिसर स्थित गुरुद्वारा बाबा गुरबख्श सिंह शहीद में श्री अखंड पाठ रखवाया गया और लंगर हॉल में सेवा ( Service of Food ) निभाई।

संगत में रखे जूते साफ किए
अखंड पाठ के भोग 14 दिसंबर को डाले जाएंगे। इसके बाद अकाली दल के अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए डेलीगेट्स की बैठक होगी। बाद में सुखबीर बादल श्री हरमंदिर साहिब परिसर में स्थित जोड़ा घर गए।
वहां उन्होंने संगत के रखे जूतों को साफ किया और पॉलिश की। सुखबीर बादल जोड़ा घर में बिछे रेड कारपेट में बैठ गए। जोड़ा घर के सेवादारों ने एक प्लास्टिक की टोकरी में संगत के जूतों को डाल कर सुखबीर के आगे रखा।

केंद्रीय मंत्री ने परसाद तैयार किया
इस दौरान सुखबीर बादल सतनाम वाहेगुरु का जाप करते रहे। सुखबीर के बायीं ओर एसजीपीसी प्रधान भाई गोबिंद सिंह लौंगोवाल और दायीं तरफ डॉ. दलजीत सिंह चीमा भी जूतों की सेवा कर रहे थे। मजीठिया ने कई अन्य अकाली नेताओं के साथ लंगर हॉल में जाकर झूठे बर्तनों की सेवा की। सुखबीर बादल ने लगभग दो घंटे तक जोड़ा घर में सेवा करने के बाद लंगर के बर्तन मांजने की सेवा भी की। वहीं केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर लंगर की एक लोह के पास जाकर बैठ गईं, जहां उन्होंने परसादे तैयार किए। इस दौरान बादल परिवार कड़ी सुरक्षा के घेरे में रहा। पिछले साल भी अकाली दल सुप्रीमो प्रकाश सिंह बादल के साथ उनके पूरे परिवार और अकाली लीडरशिप ने इसी तरह सेवा निभाई थी।

Show More
Yogendra Yogi Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned