Indian Railway: यात्री की लापरवाही ट्रेन चालक पर पड़ी भारी

Indian Railway: यात्री की लापरवाही ट्रेन चालक पर पड़ी भारी
यात्री की लापरवाही ट्रेन चालक पर पड़ी भारी

Yogendra Yogi | Updated: 12 Sep 2019, 07:33:26 PM (IST) Amritsar, Amritsar, Punjab, India

Indian Railway: यात्री की लापरवाही का खामियाजा एक ट्रेन चालक को भुगतना पड़ा। यात्री ने पानी की बोतल बाहर फेंकी शीशा चटक कर टूट गया और उसके नुकीले टुकड़े चालक अजय के सिर व हाथों पर जा लगे।

Indian Railway: जालंधर (धीरज शर्मा), लोगों की सामान्य लापरवाही किस हद तक खतरनाक रूप ले सकती है, ऐसी ही एक लापरवाही का खामियाजा एक ट्रेन चालक को भुगतना पड़ा। गनिमत यही रही कि ट्रेन के यात्री सुरक्षित रहे। पठानकोट से जालंधर आ रही डीएमयू 74902 ( DMU passenger ) का भोगपुर के पास शीशा टूटने से ड्राइवर अजय बुरी तरह से घायल ( Train Drive Injured ) हो गए। घायल होने के बावजूद चालक ने हिम्मत से काम लेते हुए 28 किलोमीटर तक ट्रेन चलाकर यात्रियों को सुरक्षित जालंधर पहुंचाया ( Train Drive Save Accident ) । यहां उनकी हालत को देखते हुए दूसरे ड्राइवर ब्रिजेश और नए डीएमयू रेक को पठानकोट के लिए भेजा गया।

बोतल फेंकने से चालक हुआ था घायल
पठानकोट निवासी अजय का जालंधर रेलवे अस्पताल में उपचार किया गया। बाद में उन्हें उनके साथी के साथ पठानकोट घर भेज दिया गया। ड्राइवर अजय ने बताया कि वे सुबह 5.35 पर पठानकोट से डीएमयू लेकर निकले थे। डीएमयू करीब 7.50 पर भोगपुर के पास पहुंचे तो दूसरी लाइन पर जम्मू की तरफ बेगमपुरा एक्सप्रेस 12237 जा रही थी। उसके एक डिब्बे के दरवाजे पर खड़े यात्री ने पानी की बोतल बाहर फेंकी। बोतल सीधे डीएमयू के शीशे पर लगी। शीशा चटक कर टूट गया और उसके नुकीले टुकड़े चालक अजय के सिर व हाथों पर जा लगे।

घायल हालत में भी यात्रियों को सुरक्षित पहुंचाया
चीफ लोको इंस्पेक्टर कुलबीर सिंह भी डीएमयू में ही आ रहे थे। जब उन्होंने देखा कि ट्रेन रुकी हुई है तो वे कारण जानने उनके पास पहुंचे। फिर, उन्हें सारी घटना का पता चला तो उन्होंने चालक अजय की हिम्मत बंधाई। अजय ने बताया कि इस पर उन्होंने खुद को संभालते हुए ट्रेन चला कर करीब 9 बजे जालंधर पहुंचाई।
तेज दर्द और खून बहने के बावजूद चालक ने साहस दिखाया और इसी हालत में ट्रेन को चलाकर यात्रियों को सुरक्षित जालंधर तक पहुंचाया। इस वजह से करीब 15 से 20 मिनट ट्रेन भोगपुर के पास ही खड़ी रही।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned