443 वर्ष प्राचीन Golden Temple हरमिंदर साहिब में हार गया Coronavirus, देखें तस्वीरें

हजारों श्रद्धालु प्रतिदिन आ रहे, इनके लिए शुरू की गई Sanitize Service
Thermal screening भी की जा रही, श्रद्धालुओं को डरने की जरूरत नहीं

By: Bhanu Pratap

Published: 19 Mar 2020, 10:29 AM IST

अमृतसर। सिख कौम हमेशा सेवा भाव व अपने अलग कार्यों के लिए जानी जाती है। पूरे देश में कोरोनावायरस के चलते धार्मिक स्थान बंद किए जा रहे हैं, वहीं अमृतसर के 443 वर्ष प्राचीन दरबार साहिब परिसर में सेवा भाव का एक नया ही रूप देखने को मिल रहा है। दुनिया में सबसे ज्यादा विदेशी सैलानियों के आने जाने वाले इस स्थान को एसजीपीसी द्वारा बंद न किए जाने का फैसला लिया गया है। यहां आने वाले हर श्रद्धालु को सैनेटाइज करने की एक अलग तरह की सेवा शुरू की गई है। हर रोज करीब एक लाख श्रद्धालु माथा टेकता है, हालांकि करोना वायरस के चलते इसकी गिनती कम हुई है।

golden_temple_seva3.jpg

थर्मल स्क्रीनिंग की सेवा

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) और सेहत विभाग की टीम ने सचखंड श्री हरमंदिर साहिब के मुख्य प्रवेश द्वार पर श्रद्धालुओं की थर्मल स्क्रीनिंग की सेवा शुरू की। साथ ही उन्हें सैनेटाइज भी कर रहे हैं। स्क्रीनिंग ओर सैनेटाइज होने के बाद ही श्रद्धालुओं को सचखंड में प्रवेश की आज्ञा दी जा रही है। स्क्रीनिंग व सैनेटाइजेश्न के कारण दूर-दराज से सचखंड में नतमस्तक होने आए बच्चों और बुजुर्ग श्रद्धालुओं की लंबी लाइनें लगी हुई है। सेवा के रूप में थर्मल स्क्रीनिंग के बाद श्रद्धालुओं को हाथ साफ करने के लिए फ्री में सैनेटाइजर भी दिया जा रहा है। डॉक्टरों की टीम की सहायता के लिए तैनात हैं।

golden_temple_seva2.jpg

मास्क लगा रहे

एसजीपीसी अधिकारी व कर्मचारी मास्क बांधकर सेवा कर रहे हैं। कई श्रद्धालु पहले ही मास्क बांधकर अपनी स्क्रीनिंग करवा रहे हैं। दरबार साहिब के प्रवेश द्वार पर श्रद्धालुओं को सैनेटाइज किया जा रहा है, वही दरबार साहिब में प्रवेश करने के बाद दर्शनी ड्योढ़ी में पहुंच रहे श्रद्धालुओं को हाथ साफ करने के लिए दोबारा सैनेटाइजर की व्यवस्था की गई है। श्रद्धालुओं को पवित्र परिक्रमा में स्थापित लाउड स्पीकर के माध्यम से कोरोना वायरस के बारे में जागरूक किया जा रहा है। श्रद्धालुओं को हिदायत जा रही है कि वह करोना वायरस से संबधित निर्धारित नियमों का पालन करें। आपस में दूरी बनाकर रखें। एक दूसरे को गले न लगाएं। संगत परिक्रमा के दर्शन करते समय एक पंक्ति में चले। एसजीपीसी ने सचखंड श्री हरमंदिर साहिब की पवित्र परिक्रमा में श्रद्धालुओं के लिए बिछे कारपेट और कालीन भी उठा लिए हैं।

golden_temple_seva.jpg

श्रद्धालुओं को डरने की जरूरत नहीं

एसजीपीसी के मुख्य सचिव डॉ. रूप सिंह ने बताया कि यहां पूरी दुनिया से लोग आकर माथा टेकते हैं। सचखंड में सेवा भाव ही इतना है श्रद्धालुओं को डरने की जरूरत नहीं है। कोरोनावायरस के चलते एसजीपीसी की ओर से हर तरह की व्यवस्था की गई है। एसजीपीसी की ओर से संचालित मेडिकल कॉलेज व सेहत विभाग की टीम श्रद्धालुओं की स्क्रीनिंग कर रही है। श्रद्धालुओं के सैनेटाइजर से हाथ साफ करवाए जा रहे हैं। सचखंड में आने वाले विदेशी पर्यटकों पर विशेष निगरानी के लिए मेडिकल टीम तैनात की गई है। एसजीपीसी सभी नियमों का पालन कर रही है ताकि सचखंड में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए कोई दुविधा पैदा न हो।

golden_temple_seva4.jpggolden_temple.jpg
coronavirus
Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned