अब सिटी ब्यूटीफुल चंडीगढ़ में घुसा पराली का धुआं

इंडस्ट्रीयल हब लुधियाना तथा अमृतसर भी पराली और गाड़ियों के प्रदूषण के दमघोटूं माहौल की चपेट में आ गए हैं

By: शंकर शर्मा

Published: 10 Nov 2017, 11:23 PM IST

चंडीगढ़। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और एनसीआर एरिया के बाद अब सिटी ब्यूटीफुल चंडीगढ़ और पंजाब के सबसे पड़े इंडस्ट्रीयल हब लुधियाना तथा अमृतसर भी पराली और गाड़ियों के प्रदूषण के दमघोटूं माहौल की चपेट में आ गए हैं। चंडीगढ़ में पूअर एयर पॉल्यूशन का पिछले साल का रिकार्ड टूट चुका है और हालात आने वाले लगातार बिगड़ रहे हैं। लोगों के लिए सांस लेना मुश्किल हो रहा है और सबसे ज्यादा परेशानी बीमारियों से ग्रस्त लोगों की है।

यह हालात चंडीगढ़ से सटे मुल्लांपुर और कुराली (दोनों पंजाब के हिस्से) में भारी पैमाने पर पराली जलाए जाने से पैदा हुए हैं। जब भी हवा की दिशा चंडीगढ़ की तरफ होती है तो पूरा शहर स्मॉग की चपेट में आ जाता है। पिछले दो दिनों से हालात तेजी से बिगड़े हैं और इसी को देखते हुए चंडीगढ़ पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी ने हैल्थ डिपार्टमेंट को लैटर लिखकर तुरंत एडवाइजरी जारी करने को कहा है।


चंडीगढ़ में एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 360 के पार पहुंच चुका ह। प्रदूषण के इस स्तर ने पिछले पांच साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। िसी तरह पंजाब के सबसे बड़े इंडस्ट्रीयल सेंटर लुधियाना में 316 जबकि अमृतसर में 246 एक्यूआई पाया गया है।


चंडीगढ़ के अलग-अलग हिस्सों में दर्ज किए गए एक्यूआई साढ़े तीन सौ के आसपास पाया गया है जो बिगड़ते हालातों की तरफ साफ संकेत दे रहा है। बीस दिन पहले यही लेवल 130 के आसपास था। इधर, मौसम विभाग के अनुमान भी चिंता बढ़ाने के लिए काफी हैं। मौसम विभाग का कहना है कि 12 नवंबर तक कोई राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।


फ्लाइट्स व रेल गाड़ियां हुई लेट
आसमान में लगातार घने हो रहे धूएं के चलते फ्लाइट्स और रेल गाड़ियां लेट होनी शुरु हो गई हैं जबकि सड़कों पर लगातार हादसे हो रहे हैं। दिल्ली में भारी स्मॉग के चलते वीरवार को चंडीगढ़ से जुड़ी 6 फ्लाइट्स लेट हुई जबकि रेल गाड़ियां भी पांच-पांच घंटे लेट चल रही हैं।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned