Coronavirus और Curfew के बीच पंजाब से आई Good News

पंजाब का पहला Coronavirus संक्रमित मरीज स्वस्थ

होशियारपुर का यह व्यक्ति चार मार्च को जर्मनी से लौटा था

21 दिन से गुरु नानक देव अस्पताल में चल रहा है इलाज

अमृतसर। कोरोनावायरस Coronavirus के कारण तमाम प्रतिबंधों को झेल रहे देश में पंजाब Punjab से अच्छी खबर Good news आई है। यहां कोरोनावायरस से संक्रमित Coronavirus Infected पहला मरीज ठीक हो गया है। उसे स्वस्थ होने में 21 दिन लगे हैं। अन्य मरीजों Coronavirus Patient की स्थिति स्थिर है। शीघ्र ही स्वस्थ Healthy हो जाने की आशा की जा रही है। कोरोनावायरस Coronavirus का प्रकोप कम करने के लिए पूरे पंजाब में कर्फ्यू Curfew चल रहा है। इसके चलते जनता को भारी समस्या हो रही है।

यह भी पढ़ं

पंजाब में Coronavirus के दो नए मरीज, कुल संख्या हुई 33, एक भी नहीं हुआ स्वस्थ

21 दिन से अस्पताल में

अमृतसर के श्री गुरुनानक देव अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में उपचाराधीन पंजाब के पहले कोरोना संक्रमित मरीज ने इस महामारी को मात दे दी है। होशियारपुर निवासी 43 वर्षीय व्यक्ति इलाज के बाद कोरोनावायरस से मुक्त हो गया है। यह व्यक्ति चार मार्च को जर्मनी से आया था। वह मूलरूप से होशियारपुर का रहनेवाला है। अमृतसर के सरकारी मेडिकल कॉलेज स्थित एनफ्लुएंजा लैब के टेस्ट में यह व्यक्ति कोरोना वायरस से मुक्त पाया गया है। पिछले 21 दिनों से अमृतसर से श्री गुरुनानक देव अस्पताल के आइसोलेशन वॉर्ड में उपचाराधीन था। इस शख्स का पहला टेस्ट दिल्ली एम्स से करवाया गया था।

यह भी पढ़ें

Lockdown in India कोरोनायावरस से लड़ाई में पंजाब ने दिया बड़ा योगदान

सभी परीक्षण नकारात्मक

दवाओं का असर और डॉक्टरों की मेहनत रंग लाई। बीते बुधवार को मरीज का सैंपल एनफ्लुएंजा लैब भेजा गया था। इस दौरान उसकी प्राथमिक एवं कन्फर्मेशन रिपोर्ट निगेटिव आई। इसके बाद गुरुवार को भी उसका थ्रोड स्वैब लेकर एनफ्लुएंजा लैब लाया गया। दो चरणों में हुए टेस्ट के पहले चरण में ई-जीन की जांच की गई और दूसरे चरण में ओआरएफबी टेस्ट हुआ। दोनों टेस्ट की रिपोर्ट निगेटिव आई।

यह भी पढ़ें

महिला म? coronavirus virus घोषित होते ही परिजन गायब, गली सील, पुलिस सक्रिय

घर पर भी एकांतवास में रहना होगा

संक्रमण मुक्त होने के बाद इस शख्स को फिलहाल तो अस्पताल में ही रखा गया है। हालांकि डॉक्टर जल्द ही इसे घर भेज सकते हैं। घर जाने के बाद इस शख्स को एकांतवास (क्वारंटाइन) में ही रहना होगा, क्योंकि यदि कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति इसे संपर्क में आया तो वह बहुत जल्दी इसकी चपेट में आ सकता है।

अभी छुट्टी नहीं

मेडिकल कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. सुजाता शर्मा का कहना है कि मरीज का ट्रीटमेंट विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार किया गया था। फिलहाल उसे आइसोलेशन वॉर्ड में रखा जाएगा। डॉक्टरों की टीम उसका लगातार परीक्षण कर रही है। डॉक्टरों द्वारा मुहर लगने के बाद ही उसे छुट्टी दी जाएगी।

coronavirus
Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned