अब अमरोहा में खड़ी बाइक का प्रयागराज में कट गया चालान, जानिए क्या है पूरा मामला

अब अमरोहा में खड़ी बाइक का प्रयागराज में कट गया चालान, जानिए क्या है पूरा मामला

Jai Prakash | Updated: 13 Sep 2019, 12:31:45 PM (IST) Amroha, Amroha, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • वाहन स्वामी के मुताबिक शहर से बाहर लेकर ही नहीं गया बाइक
  • चार दिन पहले डाक से आया चालान
  • बिना हेलमेट प्रयागराज में कट गया ई चालान

अमरोहा: सूबे यातायात नियमों को लेकर बेहद सजगता बरती जा रही है। खासकर हेलमेट और सीट बेल्ट को लगातार ट्रैफिक पुलिस और चालान चर्चा में हैं। लेकिन इस बीच ट्रैफिक पुलिस की गड़बड़ियां भी निकलकर सामने आ रहीं हैं। जी हां जनपद में एक व्यक्ति की बाइक यहीं खड़ी थी लेकिन बिना हेलमेट उसका चालान प्रयागराज जिले में हो गया है। डाक से उसके घर जब चालान पहुंचा तो उसके होश उड़ गए। उसने एसपी अमरोहा से शिकायत कर जांच कराने को कहा है। जिसमें आशंका जताई गयी है कि कहीं कोई उसकी गाड़ी का नम्बर तो इस्तेमाल नहीं कर रहा।

पेट्रोल-डीजल दामों में आज फिर हुई बढ़ातरी, जानिये आज के रेट

ये है पूरा मामला

शहर निवासी मुहम्मद अकरम के पास बुलेट है। इसका रजिस्ट्रेशन नंबर यूपी 23 डब्ल्यू 7365 है। अकरम के मुताबिक वह अपनी बाइक लेकर कभी जिले से बाहर नहीं गया है। चार दिन पहले उसके पास डाक के जरिये प्रयागराज पुलिस की ओर से किया गया उसकी बाइक का चालान पहुंचा है। चालान प्रयागराज में चार जुलाई को सुबह 10 बजे किया गया है। ऑनलाइन हुए चालान की प्रति देखकर अकरम परेशान हो गया। उसका कहना है कि उसकी बुलेट के नंबर की दूसरी बाइक प्रयागराज में चलाई जा रही है।

यूपी के मच्छराें पर शाेध करेंगे उत्तराखंड के विशेषज्ञ, सहारनपुर से हरिद्वार ले जाए गए मच्छर, जानिए वजह

होगी जांच

अकरम ने एसपी विपिन ताडा को शिकायती पत्र सौंपकर मामले की जांच कराने की मांग की है। एसपी ने बताया कि शिकायत को प्रयागराज भेजा जाएगा। जांच के बाद ही पता चल पाएगा की आखिर चालान कैसे कटा।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned