कर्मवीर: कोरोना कंट्रोल रूम में ड्यूटी कर रहे इस अधिकारी ने जरुरतमंदों के लिए छोड़ा एक वक्त का भोजन

Highlights
-इस समय कोरोना कंट्रोल रूम में लगाई गयी है ड्यूटी
-फोन पर लोगों को समस्या सुन निपटा रहें हैं शिकायतें
-हालात देख एक समय का भोजन सामुदायिक रसोई में दिया
-परिवार के सदस्य भी इस मुहीम में साथ आए

By: jai prakash

Published: 23 Apr 2020, 10:57 AM IST

अमरोहा: पूरा देश कोरोना महामारी से निपटने के लिए अपने-अपने स्तर से पूरी ताकत से लड़ रहा है। वहीँ इस महामारी में कुछ ऐसे उदाहरण भी सामने आ रहे हैं। जिनसे हमारे समाज को न सिर्फ इस बीमारी से लड़ने की इच्चाश्क्ति बल्कि सामाजिक जिम्मेदारी का भी एहसास हो रहा है। कुछ यही कहानी जनपद में तैनात डिप्टी कलेक्ट्रेट मांगेराम की भी है। कोरोना कंट्रोल रूम में ड्यूटी कर रहे इस अधिकारी ने जरूरतमंदों की भूख मिट सके अपना एक टाइम का खाना छोड़ दिया है। यही नहीं उनके साथ उनके परिवार के लोगों ने भी अपना एक समय का खाना छोड़ सामुदायिक रसोई में दिया है। डिप्टी कलेक्टर की इस प्रेरणा से अधिकारी भी दूसरों को सीखने की नसीहत दे रहे हैं।

ग्राउंड रिपोर्ट: नोएडा में रोज 1.5 लाख लोगों को बांटा जा रहा खाना फिर भी भोजन व राशन के लिए भटक रहे लोग

पर्यावरण को लेकर बेहद हैं गंभीर
यहां बता दें कि पर्यावरण के प्रति बेहद चिंतित रहने वाले डिप्टी कलेक्ट्रेट मांगेराम अपने कार्यालय आने वालों से पेड़ लगाने का संकल्प लेते हैं। उनकी ये पहचान जगजाहिर हो चुकी है। लेकिन कोरोना में उनकी ड्यूटी कंट्रोल में लोगों की शिकायतों के निस्तारण के लिए लगाईं गयी है। जिसमें वे लगातार फोन पर लोगों की समस्याएं दूर कर रहे हैं। वहीँ उन्होंने खुद एक बड़ी पहल की जिसमें उन्होंने एक समय का भोजन सामुदायिक रसोई में देने का फैसला लिया। इसमें मेरठ में रह रहा उनका परिवार भी साथ आया। उन्होंने बताया कि ऐसे समय में जरूरत मंद को भोजन मिल सके उनकी यही कोशिश है।

लॉकडाउन में रमजान आने पर दारुल उलूम ने मुसलमानों के लिए जारी की बड़ी एडवायजरी

अधिकारियों ने की तारीफ
डीएम उमेश मिश्रा ने भी डिप्टी कलेक्ट्रेट के काम की सराहना करते हुए अन्य अधिकारियों को भी उनसे प्रेरणा लेने की अपील की है। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाभ मिल सके।

Show More
jai prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned