बहेराबांध के 3500 लोगों को अब नहीं पीना पड़ेगा कॉलरी का काला पानी

बहेराबांध के 3500 लोगों को अब नहीं पीना पड़ेगा कॉलरी का काला पानी
बहेराबांध के 3500 लोगों को अब नहीं पीना पड़ेगा कॉलरी का काला पानी

Rajan Kumar | Updated: 12 Oct 2019, 02:59:50 PM (IST) Anuppur, Anuppur, Madhya Pradesh, India

शुद्ध पानी के लिए 51 लाख की लागत से नलजल योजना का होगा निर्माण

अनूपपुर। गर्मी के दिनों पानी की समस्या से जूझने वाला बहेराबांध गांव के ग्रामीणों को आगामी ग्रीष्मकाल में कॉलरी का काला पानी नहीं पीना पड़ेगा। ग्रामीणों को बेहराबांध भूमिगत खदान के स्याहयुक्त गंदा पानी से मुक्ति मिलेगी। इसके लिए ३५०० की आबादी वाले गांव के लिए पीएचई विभाग द्वारा ५०.७८ लाख की लागत से नलजल योजना के माध्यम से शुद्ध पेयजल आपूर्ति कराई जाएगी। गांव में पानी की समस्या से निजाज दिलाने कोतमा विधायक सुनील सराफ ने बेहराबांध गांव में निर्माण कार्य के लिए भूमि पूजन कर आगामी ६ माह में बहेराबांधवासियों के लिए जलापूर्ति के निर्देश दिए हैं। पीएचई विभाग उपयंत्री एसपी द्विवेदी ने बताया कि लगभग ३५०० की आबादी वाले बहेराबांध गांव के लिए ५५०० मीटर लम्बी पाइप लाइन बिछाकर घरों तक कनेक्शन के माध्यम से जलापूर्ति कराया जाना है। जिसमें २० हजार लीटर क्षमता वाली सम्पबेल मशीन तथा १२ मीटर की उंचाई पर लगी एक पानी टंकी का निर्माण कराया जाना है। इस पानी टंकी में लगभग १००० लीटर पानी के भंडारण की क्षमता रहेगी। इसका निर्माण कार्य ६ माह के अंदर पूर्ण किया जाना है। यानि २०२० के अप्रैल-मई माह के शुरूआत में ग्रामीणों के लिए जलापूर्ति की व्यवस्था उपलब्ध करा दी जाएगी। जिससे ग्रामीणों को गर्मी के दिनों में पानी के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। दरअसल कोतमा और बिजुरी नगरीय क्षेत्र सहित आसपास के ग्रामीण अचंलों में पानी की बन रही समस्या पर पत्रिका द्वारा खबर प्रकाशित कर जनप्रतिनिधियों व जिला प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराया गया था। जिसमें प्रकाशित खबर और क्षेत्रवासियों की मांग पर क्षेत्र के जनप्रतिनिधि ने गम्भीरता दिखाई। कोतमा विधायक ने गर्मी की भयावहता और लोगों की परेशानियों को देखते हुए क्षेत्र का भ्रमण करते हुए ऐसे स्थानों को चिह्नित किया था, जहां पानी की समस्या बन रही थी। पानी की समस्या से प्रभावित क्षेत्रों में विधायक ने बिजुरी नगरपालिका क्षेत्र में १२ स्थानों को चिह्नित किया था। साथ ही ग्रामीण क्षेत्र के ११ स्थानों को चिह्नित किया था। सूची में नपा का वार्ड क्रमंाक ०१ मौहरी में नपा की कोई व्यवस्था नहीं, सिगुड़ी मैरटोला, नवाडीह वार्ड क्रमांक ०३ भीषण जलसंकट नपा की कोई व्यवस्था नहीं, गलैयाटोला, मुहाड़ादफाई वार्ड क्रमांक ०६ भीषण जलसंकट कोई व्यवस्था नहीं, पडरीपानी, भालूगोडार, दलदल वार्ड क्रमांक ०७ भीषण तथा नपा की कोई सुविधा नहीं, पडरीपानी वार्ड क्रमांक ०८ पानी की सुविधा नहीं, गलैयाटोला वार्ड क्रमांक ९, बाजार क्षेत्र पाईपलाईन बिछी लेकिन पानी नहीं, वार्ड क्रमांक १० लोहसरा, बाजार क्षेत्र, सीएमपीडीआई पाईप लगा लेकिन पानी नहीं, वार्ड क्र्रमांक १२ सम्पूर्ण क्षेत्र पानी की असुविधा, वार्ड क्रमांक १३ खूंटाटोला, केबिनदफाई, कोरजाग्राम में भीषण पानी की असुविधा, वार्ड क्रमांक १४ लोहसरा, समनाटोला, केनापारा, तथा वार्ड क्रमांक १५ भगता में पानी की समस्या देखी। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में साजाटोला, भुईला, जलसार, बेनीबहरा, कनईटोला, निमहा, धवईटोला, बेलिया, हर्री, कटकोना, बहेराबांध, बेलगांव सहित अन्य कुछ हिस्सों को शामिल करते हुए सूची में बताया गया है कि इनमें कुछ स्थानों पर बोर बंद है, हैंडपम्प की सुविधा नहीं है या फिर ग्राम पंचायत की पाईप लाईन बिछाई गई है। लेकिन बोर पम्प खराब व सूखा के कारण पानी की पहुंच नहीं है।
बॉक्स: भूमिगत खदान का होता है जलापूर्ति
बहेराबांध भूमिगत खदान व कॉलरी क्षेत्राधिकार के कारण यहां कॉलरी द्वारा जलापूर्ति कराई जाती है। जिसमें पाइप लाइन के माध्यम से कॉलरी द्वारा खदान से निकाला गया पानी गांवों तक छोड़ा जाता है। जिसमें कोयला, ग्रीस, सहित खदान की गंदगी युक्त स्याह पानी लोगों की घर तक पहुंचता है। जिसके उपयोग से क्षेत्र के ग्रामीण हमेशा बीमारियों के कुचक्र में उलझे रहते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि पूर्व पानी की समस्या को लेकर लगातार आंदोलन और प्रबंधन से बातचीत का दौर जारी रखा गया था। जिसमें प्रबंधन द्वारा आश्वासन मात्र दिया जाता रहा। लेकिन पानी की समस्या को स्थायी निराकरण नहीं किया गया।
वर्सन:
बहेराबांध में पानी की समस्या अधिक थी, समस्या को देखते हुए यहां नलजल योजना के माध्यम से जलापूर्ति की व्यवस्था बनाई जाएगी। ६ माह बाद लोगों को साफ पानी मिल सकेगा।
सुनील सराफ, विधायक कोतमा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned