जीप में नारियल फल के नीचे छिपाकर रखे 400 किलो गांजा, फरार हुए कार से भी 43 किलो गांजा जब्त

उड़ीसा से अनूपपुर आ रहे 42 लाख के गांजा पर पुलिस की कार्रवाई, नारियल के खुले रखे जाने पर पुलिस को शक

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 11 Oct 2021, 08:55 PM IST

अनूपपुर। उड़ीसा से छत्तीसगढ़ के रास्ते अनूपपुर आ रहे ४४३ किलो गांजा पर ९ अक्टूबर की दोपहर पुलिस ने अनूपपुर और जैतहरी थाना क्षेत्र के स्थानों पर दबिश देकर वाहन सहित कुल ५५ लाख ३० हजार रूपए के गांजा व वाहन जब्त करने में सफलता पाई है। इस कार्रवाई में पुलिस के हाथ कोई आरोपी हाथ नहीं लग पाया है। जीप का चालक वाहन छोडक़र फरार हो गया था, जबकि अन्य गिरोह की कार पुलिस को देखकर भागने के दौरान पीछा कर रही पुलिस से छुटकारा पाने गांव के जंगल में वाहन को छोडक़र भाग निकला। लेकिन पुलिस की इस कार्रवाई में पुलिस ने दोनों ही वाहनों से ४४३ किलो गांजा को जब्त कर अज्ञात के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। बताया जाता है कि पुलिस जल्द ही जीप के चालक की गिरफ्तारी के लिए रवाना होगी। पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल ने बताया कि ९ अक्टूबर को छत्तीसगढ़ से अनूपपुर बिक्री के लिए गांजा की बड़ी खेप पहुंचने वाली है। जिस पर सभी थाना क्षेत्रों में मुख्य मार्ग पर निगरानी बनाए रखने और कार्रवाई के लिए निर्देश दिए थे। दोपहर २.२० बजे चेकिंग के दौरान सूचना मिली की आस्था पेट्रोल पम्प जैतहरी के पास एक जीप क्रमांक जेएच ०१ एयू ४६९८ संदिग्ध हालत में रोड के किनारे खड़ी है। जिस पर जैतहरी पुलिस की टीम ने मौके पर पहुंचकर वाहन का निरीक्षण किया गया। वाहन का चालक मौके से फरार पाया गया। वहीं वाहन की चेकिंग करने पर वाहन में कच्चा नारियल लोड होना पाया गया। नारियल हटाने पर प्लास्टिक की बोरी में लगभग 400 किग्रा गंाजा रखा हुआ था। 400 किग्रा जिसकी अनुमानित कीमत लगभग 40 लाख रुपए आंकी गई है। वहीं गांजा तस्करी में उपयोग किए गए वाहन की अनुमानित कीमत लगभग 10 लाख रुपए बताया गया है को जब्त किया गया है।
बॉक्स: पुलिस को देख भागा कार चालक, जंगल छोडक़र हुआ फरार
बताया जाता है कि अभी जैतहरी पुलिस जीप से गांजा को लेकर कार्रवाई कर रही रही थी कि इसी दौरान एक तेज रफ्तार की कार वहां से गुजरी, जिसे देखकर पुलिस ने कार से जीप में सवार आरोपियों के भागने की आशंका जताई और कुछ पुलिसकर्मियों ने कार का पीछा किया। पुलिस को देखकर कार चालक ने तेजी से बेलियाफाटक पार करते हुए भागने का प्रयास किया। इसी दौरान कोतवाली पुलिस को सूचना मिली कि अज्ञात वाहन संदिग्ध हालत में जैतहरी से अनूपपुर की तरफ आ रहा है। जिस पर कोतवाली अनूपपुर की विशेष टीम ने हर्री-बर्री फाटक के पास चेकिंग लगाई चेकिंग के दौरान कार चालक ने पुलिस टीम को देखकर वाहन को हर्री-बर्री फाटक से भगा कर भगतबांध की ओर मोड़ दिया। जिसे घेराबंदी कर भगतबांध में पकड़ा गया। लेकिन यहां कार में सवार सभी आरोपी पुलिस के पहुंचने से पूर्व फरार हो गए। कार को जब्त कर तलाशी लेने पर डिक्की में प्लास्टिक के 44 पैकेट में लगभग 43.3 किग्रा गांजा पाया गया। जब्त गांजा की कीमत 2 लाख रूपए आंकी गई, जबकि जब्त कार की कीमत 3 लाख रूपए बताया गया। पुलिस के अनुसार जीप में चालक और कार में लगभग ३ आरोपी सवार थे। दोनों ही गांजा के खेप को दो अलग अगल गुट लेकर आए थे। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।
बॉक्स: मादक पदार्थ पर पुलिस की कार्रवाई
नवागत पुलिस अधीक्षक के आगमन के बाद अवैध गांजा तस्करी करने वालो के खिलाफ अब तक 573 किग्रा गांजा जब्त करने के साथ अवैध शराब के 399 प्रकरणों 1169 लीटर अवैध शराब व 750 किग्रा महुआ लाहन जब्त किया गया है। कार्रवाई में एसडीओपी कीर्ति बघेल, थाना प्रभारी अमर वर्मा, जैतहरी थाना प्रभारी केके त्रिपाठी एवं टीम शामिल रही।
----------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned