जिले के गोदामों में भंडारित 1.27 लाख चावल में 94 हजार क्विंटल अमानक चावल

जांच रिपोर्ट में 94 सैम्पल में 52 फेल, 5 सैम्पल की होगी पुन: जांच, नान ने मिलरो को नोटिस जारी कर चावल उठाव के दिए निर्देश

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 30 Sep 2020, 09:01 PM IST

अनूपपुर। जिले के १३ गोदामों में भंडारित १.२७ लाख क्विंटल चावल की जांच रिपोर्ट में अब १० सैम्पल जांच की मात्रा और बढ गई है। पूर्व में जहां ८४ सैम्पल थे, वहीं अब ९४ सैम्पल हो गए हैं। इनमें ५२ फेल और ४२ पास हैं। जबकि ५ सैम्पल को पुन: जांच कराया जाएगा, जिसके उठाव पर फिलहाल विभाग ने रोक लगा रखी है। बताया जाता है कि भारतीय खाद्य निगम की जांच रिपोर्ट में कुल १ लाख २७ हजार ५०० क्विंटल चावल के भंडारण में ९४ सैम्पल लिए गए थे। जिसमें ५२ फेल बताए गए हैं। इन ५२ सैम्पल में ९४ हजार ९८२ क्विंटल अमानक या निम्न स्तर के पाए गए हैं। जिसके बाद मप्र. स्टेट सिविल सप्लाईज कॉर्पोरेशन अनूपपुर के जिला प्रबंधक हेमंत तालेगांवकर ने जिले के 12 मिलरों को नोटिस जारी करते हुए चावल के अपग्रेडेशन की पूरी प्रक्रिया में व्यय, भंडारण शुल्क व ब्याज का वहन करने के निर्देश दिए है। जानकारी के अनुसार जिले में भंडारित चावल की सैम्पलिंग में 12 मिलरों का 94 हजार 982 क्विंटल चावल में ब्रोकन एवं डेमैज की मात्रा 8 प्रतिशत से 12 प्रतिशत अधिक पाई गई है। जानकारी के अनुसार इनमें अमित राइस मिल अमलाई के २५८७.९५ टन, दीपेन्द्र केशरवानी राइस मिल वेंकटनगर के १६८५.८० टन, केशरवानी राइस मिल फुगना के १०२४.९५ टन, बालगोंविद राइस मिल प्रोड्क्टस १४९६.६० टन, आयशा राइस मिल खोड्री ३१८६ टन, अन्नपूर्णा राइस मिल कोतमा ३३९४.५५ टन, अब्दुल वाहिद राइस मिल कोतमा १३२९.९० टन, श्याम राइस मिल कोतमा ११६ टन, गजानन राइस मिल कोतमा १७४ टन, मां ज्वाला उचेहरा राइस मिल १३३.४० टन, ओम राइस मिल १२१.७५ टन गोदामों में भंडारित हैं, जिसकी सैम्पलिंग जांच एफसीआई द्वारा की गई है।
बॉक्स: 12 मिलरों को जारी हुई नोटिस
चावल में ब्रोकन व टूटन की मात्रा 8 प्रतिशत से 12 प्रतिशत मिलने पर चावल निर्धारित मापदंडो से निम्न क्वालिटी का मानते हुए नागरिक आपूर्ति विभाग ने सभी 12 मिलरों को नोटिस जारी किया गया है। जिसमें निम्न गुणवत्ता चावल जमा करने वाले मिलरो को जिम्मेदार ठहराया है। इसके रिजेक्शन बनाकर उनके स्वयं के व्यय पर चावल के अपग्रेडेशन के निर्देश दिए गए है। चावल के अपग्रेडेशन की प्रक्रिया में हुए व्यय, भंडारण शुल्क व ब्याज का वहन मिलर द्वारा किया जाएगा तथा अपग्रेडेशन के बाद गुणवत्ताविहीन चावल जमा करने पर उनका लॉट स्वीकार नहीं किए जाने के निर्देश दिए है।
वर्सन:
हमने मिलरो को नोटिस जारी किया है, उन्हें चावल उठाने के निर्देश देते हुए अपनी व्यय पर जमा करने के भी निर्देश दिए हैं।
हेमंत तालेगांवकर, प्रबंधक नागरिक आपूर्ति अधिकारी अनूपपुर।
----------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned