लॉकडाउन में लेखापाल ने किया ऐसा काम, कलेक्टर ने कर दिया निलम्बित

बिना सूचना इमरजेंसी मेडिकल पास पर कटनी से पुत्र का परिवहन कर लाया था कोतमा

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 18 Apr 2020, 09:06 PM IST

अनूपपुर। कोतमा जनपद पंचायत कार्यालय में लेखापाल पद पर पदस्थ कर्मचारी सुनील कुमार अवधिया द्वारा देवास से कटनी पहुंचे अपने पुत्र अमित कुमार अवधियों के परिवहन कर कोतमा लाने तथा वाहन में फर्जी पास के उपयोग करने के मामले में कलेक्टर ने १७ अप्रैल को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया है। अमित कुमार अवधिया अपने किसी रिश्तेदार के साथ १३ अप्रैल की शाम देवास से कटनी पहुंचे थे, जहां रात को लेखापाल सुनील कुमार अवधिया ने अपने निजी वाहन सीजी १६ बी १४४६ पर मेडिकल इमरजेंसी पम्पलेट चस्पाकर कटनी से पुत्र का परिवहन करते सीधे अपने निज आवास पहुंचे थे, इस दौरान अपने पुत्र का बिना मेडिकल जांच कराएं और इसकी जानकारी भी प्रशासनिक अधिकारियों व स्वास्थ्य टीम को नहीं दी थी। जिसपर स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना एसडीएम कोतमा को दी थी। जिसकी पुष्टि अनुविभागीय अधिकारी कोतमा द्वारा की गई थी। यह कृत्य आपदा प्रबंधन अधिनियम एवं मप्र सिविल सेवा आचरणद्ध नियम के विपरीत होने से दंडनीय है। जिसपर संज्ञान लेते हुए कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने सुनील कुमार अवधिया लेखापाल जनपद पंचायत कोतमा को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया है। निलंबन अवधि में सुनील कुमार अवधिया का मुख्यालय कार्यालय अनुविभागीय अधिकारी राजस्व कोतमा किया जाता है तथा इन्हें नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता देय होगा। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी चंद्रमोहन ठाकुर ने स्पष्ट किया है कि जो भी व्यक्ति लॉकडाउन का उल्लंघन करेगा अपने आगमन की जानकारी छुपाएगा चाहे वह कोई भी हो सम्बंधित पर कठोर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।
---------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned