स्वीकृति के बाद अतिक्रमण की उलझन में दो वर्षो से बंद पड़ा स्कूल का निर्माण कार्य

प्राथमिक विद्यालय नहीं होने से 2 किलोमीटर दूर पढ़ते जा रहे बच्चे

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 03 Jul 2021, 12:18 PM IST

अनूपपुर। जैतहरी जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत कोलमी में प्राथमिक स्कूल नहीं होने के कारण यहां के बच्चों की प्राथमिक शिक्षा प्रभावित हो रही है। स्कूल के अभाव में यहां अध्ययनरत बच्चों को 2 किलोमीटर दूर छुलकारी गांव जाना पड़ता है। इस समस्या को देखते हुए विभाग द्वारा 2 वर्ष पूर्व विद्यालय भवन निर्माण के लिए राशि जारी करते हुए शाला प्रबंधन समिति को इसके निर्माण की जिम्मेदारी सौंपी थी। लेकिन जिस स्थल पर विद्यालय भवन निर्माण कार्य प्रस्तावित किया गया, वहां स्थानीय व्यक्ति के द्वारा भूमि पर अतिक्रमण किए जाने के कारण अटक गया। अतिक्रमण की उलझन से जमीन की समस्या का हल नहीं होने से यहां स्कूल निर्माण का कार्य पिछले 2 वर्षों से ठप पड़ा हुआ है। बताया जाता है कि कोलमी के बैगान टोला में प्राथमिक विद्यालय भवन निर्माण के लिए विभाग द्वारा वर्ष 2018-19 में 8 लाख 25 हजार रुपए की राशि जारी करते हुए दो बरामदे तथा शौचालय एवं किचन शेड निर्माण के लिए शाला प्रबंधन समिति को इसकी जिम्मेदारी सौंपी थी। प्रस्तावों के अनुरूप निर्माण कार्य की तैयारी आरम्भ हुई। लेकिन इसी दौरान स्थानीय व्यक्ति के द्वारा विद्यालय के लिए चिन्हित भूमि पर अतिक्रमण कर उसपर कब्जा जमा लिया। अतिक्रमण का मामला दो साल पुराना हो चुका है, लेकिन विभागीय स्तर पर निर्माण सम्बंधित कोई कार्रवाई आरम्भ नहीं की जा सकी है।
बॉक्स: अतिक्रमण हटाने किया पत्राचार
इस मामले में शाला प्रबंधन समिति के द्वारा सर्व शिक्षा अभियान विभाग को पत्राचार करते हुए विद्यालय के लिए चिन्हित भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराए जाने की मांग की जा चुकी है। जिस पर कलेक्टर कार्यालय के द्वारा राजस्व विभाग को अतिक्रमण हटाने के भी निर्देश जारी किए जा चुके हैं। लेकिन आदेशों के बाद भी दोनों विभागों द्वारा अबतक न तो जमीन का सीमांकन कराया गया और ना ही अतिक्रमण को मुक्त कराया गया है।
बॉक्स: 2 किलोमीटर दूर पढ़ाई के लिए जाते 39 बच्चे
विभागीय व राजस्व विभाग अधिकारियों की लापरवाही के कारण अतिक्रमण के मामले का निराकरण अबतक सम्भव नहीं हो सका है। जिसके कारण ग्राम कोलमी मेंं प्राथमिक विद्यालय नहीं होने से यहां के बच्चों को 2 किलोमीटर दूर छूलकारी तक जाना पड़ता है। इनमें सबसे अधिक परेशानी बारिश के दौरान बनी रहती है, जिसमें बच्चों को रास्ते में आवाजाही के दौरान बारिश की बौछार के बीच भींगते हुए आवागमन करना पड़ता है। जिससे अभिभावकों को भी बच्चों की सुरक्षा के प्रति चिंता बनी रहती है। अभिभावकों के द्वारा प्रशासन से विद्यालय भवन निर्माण में रुकावट बने अतिक्रमण को हटाने की मांग की गई है।
वर्सन:
यहां भवन निर्माण प्रस्तावित है, अतिक्रमण में कार्य रूका था, इस सम्बंध में जानकारी लेकर आगे की कार्रवाई करवाता हूं।
हेमंत खैरवाल, डीपीसी अनूपपुर।
------------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned