पत्थर निकालने के दौरान शरीर पर गिरा भारी चट्टान, मौत के बाद परिजनों ने बिना पुलिस सूचना कर दिया दफन

पत्थर निकालने के दौरान शरीर पर गिरा भारी चट्टान, मौत के बाद परिजनों ने बिना पुलिस सूचना कर दिया दफन

By: shivmangal singh

Published: 19 Jan 2019, 08:02 AM IST

सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस व प्रशासन, कब्र खोद निकाला शव
अनूपपुर। बिजुरी नगरपालिका के वार्ड क्रमांक 7 स्थित कपिलधारा श्रमिक कॉलोनी के पास अर्जुन घाट पर अवैध संचालित पत्थर खदान में पत्थर निकालते समय 22 वर्षीय युवक शिव चरण कुडाकू की दबकर दर्दनाक मौत का मामला सामने आया है, यही नहीं परिजनों ने बिना पुलिस को सूचना दिए घटना के दूसरे दिन शव को दफना भी दिया। जिसके कारण पुलिस इस घटना से पूरी तरह अनिभिज्ञ रही। इस सम्बंध में किसी व्यक्ति ने घटना के दूसरे दिन बिजुरी पुलिस को सूचना दी। आनन फानन में पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए १८ जनवरी की दोपहर प्रशासनिक अधिकारी व परिजनों के साथ घटना स्थल से ५०० मीटर दूर अर्जुन घाट क्षेत्र से ही कब्र खुदाई कर शव को बाहर निकाला। घंटाभर मिट्टी खुदाई कर चार फीट गहरे कब्र से शव को बाहर निकालने के बाद बिजुरी नायब तहसीलदार रामखेलावन सिंह, थाना प्रभारी राधिका प्रसाद द्विवेदी व परिजनों की उपस्थिति में बिजुरी प्राथमिक स्वास्थ्य चिकित्सक डॉ. मनोज सिंह ने शव का पीएम कराकर परिजनों को सौंप दिया। इस दौरान नायब तहसीलदार ने मृतक के परिजनों से पूछताछ की तो परिजनों ने कुछ भी कहने से इंकार दिया। मीडिया से पूछताछ में मृतक के पिता ने खदान मोहम्मद अली नामक व्यक्ति का बताया। जिसमें घटना के दिन व चार व्यक्तियों के साथ खुद भी खुदाई कर रहा था। नायब तहसीलदार बिजुरी रामखेलावन सिंह के अनुसार घटना १६ जनवरी की शाम ५.३० बजे की है, जहां पत्थर खुदाई कर निकालने के दौरान बड़ा पत्थर उसके शरीर के उपर आ गिरा, जिसके नीचे दबकर वह गम्भीर रूप से घायल हो गया। पत्थर से दबने के बाद उसकी चीख्ंा सुनकर आसपास कर रहे अन्य मजदूरों ने लगभग १० फीट गहरे गड्ढे में घुसकर उसे बाहर निकाला। इसके बाद मजदूर शिवचरण कुडाकू को उपचार के लिए अस्पताल ले जा रहे थे लेकिन रास्ते में उसकी मौत हो गई। शिवचरण की मौत के बाद सभी ने शव को वापस घर लाकर रातभर घर में रखने के बाद सुबह अर्जुन घाट पर ही दफन कर दिया। नायब तहसीलदार का कहना है कि वनविभाग क्षेत्र से लगा यह अवैध खदान है, इसके अलावा अनेक अवैध तरीके से पत्थर खदान और क्रेशर भी संचालित हैं। जिसके खिलाफ जल्द ही जांच कर कार्रवाई की जाएगी। विदित हो कि इससे पूर्व भी इसी अर्जुन घाट पर पत्थर खुदाई के दौरान एक मजदूर की दबकर मौत का मामला सामने आया था, इसमें भी परिजनों ने बिना सूचना शव को दफन कर दिया था। जबकि खनिज विभाग ने इसी खदान पर औचक निरीक्षक करते हुए अवैध तरीके से पत्थर परिवहन करने के मामले में दो वाहनों को जब्त करने की कार्रवाई की थी, जिसमें मोहम्मद अली का नाम सामने आया था। लेकिन इसके बाद यह अवैध खदान वर्षो से संचालित है। मृतक के पिता हीरालाल कुडाकू ने बताया कि घटना के दिन चार मजदूर थे, जहां गड्ढे से आवाज आने पर जाकर देखने पर शिवचरण कुडाकू को दबा पाया, बाइक से उसे अस्पताल ले जा रहे थे तभी उसकी मौत हो गई। वहीं हीरालाल ने बताया कि पत्थर तोडक़र वह प्रति टाली ७०० रूपए में बेच देता था।
वर्सन:
एसडीएम के निर्देश में शव निकालने की कार्रवाई की गई। मजदूर पत्थर खुदाई के दौरान बड़े पत्थर से दबकर घायल हुआ था, अस्पताल ले जाने के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस से बचने परिजनों ने बिना सूचना दिए शव को दफना दिया था। पुलिस मर्ग कायम कर मामले की जांच कर रही है।
रामखेलावन सिंह, नायब तहसीलदार कोतमा।

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned