कलेक्टर की नोटिस के बाद अब मिलरों को पीएस का अल्टीमेटम, चावल उठाने 15 दिनों की मोहलत

नहीं उठाने पर ब्लैक लिस्ट के साथ विभिन्न धाराओं के तहत हो सकता है मामला दर्ज

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 17 Oct 2020, 09:58 PM IST

अनूपपुर। जिले के 3 शासकीय वेयरहाउस गोदामों के साथ १० अन्य निजी गोदामों में भंडारित लगभग ९५ हजार अमानक चावल मामले में अब पीएस भोपास ने गम्भीरता दिखाई है। १५ अक्टूबर को वीसी के माध्यम से हुई समीक्षा में अनूपपुर जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी एके श्रीवास्तव से जिले के गोदामों में भंडारित अमानक चावल के अबतक नहीं उठाए जाने और मिलरों की समस्या पर जानकारी ली। जिसमें मिलरो की समस्या पर उनके परिवहन सम्बंधित भुगतान तत्काल कराने के साथ आगामी १५ दिनों का समय देते हुए गोदामों से चावल उठाने के निर्देश दिए हैं। पीएस ने समीक्षा बैठक में अधिकारियों को स्पष्ट किया कि किसी भी हाल में गोदामों में अमानक चावल का भंडारण नहीं होगा, जो भंडारित है उसका उठाव कराते हुए अपग्रेडेड चावल का भंडारण ही कराने की व्यवस्था बनाएं। इससे पूर्व कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने सभी १२ मिलरों को ९ अक्टूबर को नोटिस जारी करते हुए चावल उठाव के निर्देश दिए थे। कलेक्टर के जारी नोटिस पर एक सप्ताह तक मिलरो ने अनदेखी करते हुए किसी भी गोदाम से चावल के एक छंटाक तक दाना नहीं उठाया था। लेकिन इसी दौरान १५ अक्टूबर को पीएस खाद्य नागरिक आपूर्ति फैज अहमद किदवई ने चावलों के अबतक नहीं उठाव पर नाराजगी जताई और अधिकारियों को निर्देशित किया। जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी एके श्रीवास्तव ने बताया कि अगर मिलर १५ दिनों के भीतर चावल का उठाव नहीं करते हैं तो सम्भव है कि प्रशासन द्वारा ऐसे मिलरो को ब्लैक लिस्ट करते हुए विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कराया जाएगा।
विदित हो कि बालाघाट और मंडला में मवेशी खाने योग्य चावल के वितरण और जांच में हुए खुलासे के बाद शासन द्वारा प्रदेश के समस्त गोदामों में भंडारित चावल के वितरण पर रोक लगाई गई थी। एफसीआई टीम द्वारा की गई जांच में जिले के १.२७ लाख क्विंटल भंडारित चावल की लॉट में ९४ सैम्पल में ५२ फेल और ४२ पास पाए गए। जबकि ५ सैम्पल को मवेशी के खाने योग्य बताए गए हैं। जिसकी पुन: जांच कराया जाएगा। १ लाख २७ हजार ५०० क्विंटल चावल के भंडारण में इन ५२ सैम्पल में ९४ हजार ९८२ क्विंटल अमानक या निम्न स्तर के पाए गए हैं।
वर्सन:
पीएस के निर्देश की जानकारी मिलरो को दे दी गई है। अगर १५ दिनों के भीतर चावल का उठाव नहीं करते हैं तो आगे की कार्रवाई की जाएगी।
एके श्रीवास्तव, जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी अनूपपुर।
----------------
आज कुछ मिलर के वाहन गोदामों पर पहुंची हैं, कुछ चावल का उठाव हुआ है, पूरी जानकारी कल तक सामने आ पाएगी कि कितने चावल का उठाव हुआ है। मिलरों को चावल उठाने के लिए कहा गया है।
हेमंत तालेगांवकर, प्रबंधक नागरिक आपूर्ति विभाग अनूपपुर।
---------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned